नई दिल्ली, जेएनएन। भारत व इंग्लैंड के बीच पांचवां व आखिरी टेस्ट मैच लंदन में सात सितंबर से खेला जाएगा। इस मैच में भारतीय टीम के सीनियर स्पिनर अश्विन के खेलने पर सस्पेंस बन गया है। अश्विन चौथे टेस्ट मैच में बल्लेबाजी के दौरान चोटिल हो गए थे। अश्विन के चोटिल होने के बाद ये कयास लगाया जा रहा है कि उनकी जगह अगले टेस्ट मैच में रवींद्र जडेजा को टीम में शामिल किया जा सकता है। जडेजा पिछले चार टेस्ट मैचों में बेंच पर बैठे थे। 

अश्विन को तीसरे यानी ट्रेंट ब्रिज टेस्ट मैच के दौरान हिप इंजरी हो गई थी लेकिन इसके बाद उन्हें चौथे टेस्ट मैच में खेलने की अनुमति मिल गई थी क्योंकि उन्होंने फिटनेस टेस्ट पास कर लिया था। हालांकि इसके बाद चौथे टेस्ट मैच में वो गेंदबाजी करने के दौरान संघर्ष करते नजर आए थे। अश्विन ने चौथे टेस्ट मैच में रफ पिच का फायदा नहीं उठाने में कामयाब नहीं रहे और उन्हें उम्मीद के मुताबिक सफलता नहीं मिली। वो इस मैच में विकेट के लिए तरसते दिखे और रफ पिच पर अपने गेंद को फेंक कर टर्न हासिल करने में कामयाब नहीं हो पाए। वहीं उनके प्रतिद्वंदी इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर मोइन अली ने उसी रफ का बखूबी इस्तेमाल किया और भारतीय टीम के खिलाफ नौ विकेट लिए और अपनी टीम की जीत में बड़ी भूमिका निभाई। मोइन अपने प्रदर्शन के बूते मैन ऑफ द मैच बने। वहीं अश्विन इस मैच की पहली पारी में दो और दूसरी पारी में सिर्फ एक विकेट लेने में ही सफल हो पाए थे। 

भारत की तरफ से बेस्ट रैंकिंग के स्पिनर होने के बावजूद जडेजा को पहले चार टेस्ट मैचों में मौका नहीं मिल पाया क्योंकि इंग्लैंड के कंडीशन ने स्पिनर्स को ज्यादा फेवर नहीं किया और टीम मैनेजमेंट ने एक्स्ट्रा सीमर के साथ मैदान पर उतरने का फैसला किया। अश्विन के इंजर्ड होने के बाद ये उम्मीद जताई जा रही है कि उन्हें खेलने का मौका मिल सकता है। अब इस टेस्ट मैच के जरिए जडेजा को खुद को साबित करने का मौका है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern