मेलबर्न, आइएएनएस। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है कि भारतीय खिलाड़ियों पर जमकर भद्दे कमेंट हुए थे। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट के दौरान सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) में दर्शकों के एक समूह ने भारतीय खिलाड़ियों पर नस्लीय टिप्पणी की थी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच के दौरान भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज और जसप्रीत बुमराह को कुछ दर्शकों ने अपशब्द कहे थे और उनपर नस्लभेदी टिप्पणियां भी की थीं।

भारतीय टीम के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने मैच रेफरी डेविड बून से इसकी शिकायत की थी कि उनकी टीम के खिलाड़ियों पर नस्लीय टिप्पणियां हुई हैं। मैच के चौथे दिन ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में चायकाल से पहले ही यह घटना हुई थी। इसके बाद छह दर्शकों को मैदान से बाहर कर दिया गया था। सिडनी में हुई इस घटना के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बयान जारी कर भारतीय क्रिकेट टीम और भारतीय फैंस से माफी भी मांगी थी। बोर्ड ने जांच का भरोसा भी दिलाया था। उधर, इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी ने सीए से विस्तृत रिपोर्ट तलब की थी।

अब क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) की इंटिग्रिटी यूनिट के मुखिया सीन कैरोल ने अपने बयान में कहा है, "क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दौरान एससीजी में दर्शकों के व्यवहार पर पर आइसीसी को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। ऑस्ट्रेलिायई क्रिकेट बोर्ड इस बात की पुष्टि करता है कि भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य सिडनी में नस्लीय दुर्व्यवहार के शिकार हुए थे। बोर्ड इस मामले में आगे भी जांच कर रहा है।"

उन्होंने आगे कहा, "भारतीय खिलाड़ियों पर हुई नस्लीय टिप्पणी के मामले में सीए ने अपनी जांच शुरू कर दी है। सीसीटीवी फुटेज, टिकटिंग डेटा और दर्शकों के साथ साक्षात्कार और जिम्मेदार लोगों का पता लगाने के प्रयास के बाद इस मसले का विश्लेषण किया जा रहा है। जिन दर्शकों को सीए के एंटी-हैरासमेंट कोड का उल्लंघन करते हुए पाया गया है, उन्हें न्यू साउथ वेल्स पुलिस को सौंप दिया गया है।" अब क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को न्यू साउथ वेल्स पुलिस की रिपोर्ट का इंतजार है कि इसमें क्या कार्रवाई होगी।

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप