नई दिल्ली, प्रेट्र : केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पाकिस्तानी टीम को भारत में हो रहे ब्लाइंड टी-20 विश्व कप के लिए वीजा देने की मंजूरी दी। गृह मंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद विदेश मंत्रालय अब पाकिस्तानी खिलाड़ियों और अधिकारियों को वीजा जारी करेगा, जिससे टीम टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए भारत की यात्रा कर सके। विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्रालय ने ब्लाइंड क्रिकेट विश्व कप में भाग लेने के लिए 34 पाकिस्तानी खिलाड़ियों और अधिकारियों को वीजा जारी करने की मंजूरी दे दी है।

भारतीय टीम को पाकिस्तान दे सकता है टक्कर: पीसीबी

इससे पहले, पाकिस्तान ब्लाइंड क्रिकेट परिषद (पीबीसीसी) ने दावा किया था कि टीम को भारतीय विदेश मंत्रालय से वीजा की अनुमति नहीं मिली है। पीबीसीसी ने कहा था,'इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना से पाकिस्तान की ब्लाइंड क्रिकेट टीम अधर में लटक गई। इसकी पूरी संभावना थी कि मौजूदा विश्व कप का फाइनल भारत और पाकिस्तान के बीच होता है और वर्तमान फार्म को देखते हुए पाकिस्तान के खिताब जीतने की प्रबल संभावना थी।

भारतीय ब्लाइंड क्रिकेट संघ ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों को वीजा देने के लिए अपनी सरकार से गुहार लगाई थी लेकिन किसी की नहीं सुनी गई। इस भेदभावपूर्ण कार्रवाई के विश्व ब्लाइंड क्रिकेट को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे क्योंकि हम उनसे भारत के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग करेंगे जिससे भारत को भविष्य में अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की मेजबानी न मिले।'

भारत का विजयी आगाज

 भारत ने तीसरे ब्लाइंड टी-20 विश्व कप में मंगलवार को यहां खेले गए अपने पहले मैच में नेपाल को 274 रन के विशाल अंतर से हराकर इस टूर्नामेंट का विजयी आगाज किया। भारत की जीत में दीपक मलिक (नाबाद 113) और सुनील रमेश (106) रन की धुआंधार बल्लेबाजी अहम रही। भारतीय टीम के कप्तान अजय कुमार रेड्डी ने टास जीतकर बल्लेबाजी का निर्णय लिया और टीम ने 20 ओवर में दो विकेट पर 382 रन बनाए। जवाब में नेपाल की टीम निर्धारित ओवर में नौ विकेट पर 108 रन ही बना सकी। नेपाल का कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के आगे टिक नहीं सका। सुनील रमेश और दीपक मलिक की जोड़ी ने यहां पर भी कमाल किया। सुनील ने दो और दीपक ने तीन विकेट लिए।

इससे पहले, सुनील मुकाबले की शुरुआत से ही नेपाल के गेंदबाजों पर हावी थे। अजय कुमार उनका अधिक देर तक साथ नहीं दे सके और 25 रन पर आउट हो गए। पैर में ¨खचाव होने के कारण सुनील रिटायर्ड होकर पविलियन लौट गए। इनके बाद बल्लेबाजी के आए डी.वेंकेटेश ने नाबाद 67 रन रन बनाए। ब्लाइंड टी-20 विश्व कप में यह अब तक का सबसे बड़ा स्कोर है।

यह भी पढ़ेंपाकिस्तान क्रिकेट टीम को टीम को भारत आने के लिए अबतक नहीं मिला वीजा, आयोजक हुए परेशान

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट