नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज का पहला मुकाबला शनिवार को अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में खेला जाएगा। वनडे सीरीज में 4-1 से शर्मनाक हार झेलने के बाद हरमनप्रीत की नजर फटाफट क्रिकेट में जोरदार वापसी पर होगी। हालांकि, छोटे फॉर्मेट में भी भारतीय महिलाओं के सामने लिजेल ली, लॉरा वोल्वार्ट और डु प्रीज कड़ी चुनौती पेश कर सकती हैं।

शेफाली पर होगी नजर : शेफाली वर्मा टी-20 टीम से जुड़ गई हैं। उन्हें वनडे टीम में शामिल नहीं किया गया था। हालांकि, इस संबंध में भारतीय महिला टीम के मुख्य कोच डब्ल्यूवी रमन अपनी सफाई दे चुके हैं कि अगले साल होने वाले विश्व कप के लिहाज से मजबूत बेंच स्ट्रेंथ तैयार की जा रही है। इसी के तहत शेफाली को एकदिवसीय सीरीज में बाहर बैठना पड़ा था। मेजबान टीम के नजरिये से अगले तीनों मैचों में इस युवा आक्रामक बल्लेबाज की अहम भूमिका होगी। 17 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी ने अभी तक 19 अंतरराष्ट्रीय टी-20 मुकाबलों में 27 के औसत से 487 रन बनाए हैं लेकिन, उनका स्ट्राइक रेट 150 के करीब है। खास बात यह है कि शेफाली ने 24 सितंबर 2019 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ही टी-20 क्रिकेट में पदार्पण किया था। हालांकि, इस मैच में भारतीय ओपनर खाता नहीं खोल सकीं थीं।

स्मृति मंधाना की फार्म चिंता का विषय : भारत के लिए कई मौकों पर संकट मोचक की भूमिका निभाने वाली उपकप्तान स्मृति मंधाना ने दूसरे मैच के अलावा अन्य मुकाबलों में खराब बल्लेबाजी से निराश किया। हालांकि, छोटे फॉर्मेट में वह बड़ी खिलाड़ी मानी जाती हैं। भारत को अगर टी-20 सीरीज में पलटवार करना है तो दिग्गज बल्लेबाज स्मृति मंधाना का फार्म में वापसी करना बेहद जरूरी है। वहीं, एकदिवसीय सीरीज में खराब बल्लेबाजी से आलोचना झेल रही जेमिमा रोड्रिग्स को भी रन बनाने होंगे। इसके अलावा मध्यक्त्रम में ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा और विकेटकीपर बल्लेबाज सुषमा वर्मा को भी आगे बढ़कर जिम्मेदारी लेनी होगी। हालांकि, मेजबानों के लिए गेंदबाजी चिंता का विषय जरूर है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप