नई दिल्ली। भारत और वेस्टइंडीज के बीच आज शाम को ट्वेंटी-20 विश्व कप का दूसरा सेमीफाइनल खेला जाएगा। इस मैच की विजेता टीम रविवार को ईडन गार्डंस में इंग्लैंड से भिड़ेगी। वैसे तो यह मुकाबला दो टीमों के बीच है, लेकिन दर्शकों की निगाहें भी दोनों टीमों के कुछ स्टार क्रिकेटर्स पर रहेगी।

कुछ लोग इसे क्रिस गेल बनाम रविचंद्रन अश्विन के मुकाबले के रूप में देखते हैं तो कुछ लोग इसे गेल बनाम विराट कोहली की जंग के रूप में प्रचारित करते हैं। आइए नजर डालते हैं उन क्रिकेटर्स पर जिनके कंधों पर इस मैच का काफी हद तक दारोमदार रहेगा।

  1. विराट कोहली : टीम इंडिया अपने इस सुपर स्टार पर बहुत हद तक निर्भर है। बल्लेबाजी टीम इंडिया का सशक्त पहलू है और कोहली इस वक्त इस मामले में उसकी जान है। वो 4 मैचों में 184 रन बना चुके हैं और उन्होंने अपनी टीम को पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया जैसी टीमों के खिलाफ जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। टीम प्रबंधन को अब कोहली से इस मैच में भी धमाकेदार पारी की उम्मीद रहेगी।
  2. क्रिस गेल : वैश्विक क्रिकेट में इस बल्लेबाज की छवि सबसे विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में है। गेल यदि क्रीज पर टिक गए तो विपक्षी गेंदबाजी आक्रमण में कौन है, इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है, गेंदबाजों की जमकर धुनाई होना तय है। गेल ने इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई में ही तूफानी शतक जड़ा था। श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने बल्लेबाजी नहीं की जबकि द. अफ्रीका के खिलाफ वे असफल रहे थे। इसके बाद अफगानिस्तान के खिलाफ मैच में उन्हें अराम दिया गया था। गेल अब मुंबई की अपनी पारी को आगे बढ़ाना चाहते हैं।
  3. रविचंद्रन अश्विन : अश्विन वैसे तो टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज है, लेकिन इस विश्व कप में कप्तान महेंद्रसिंह धोनी उनसे पूरा कोटा नहीं डलवा रहे हैं। वैसे विपक्षी टीम में क्रिस गेल की मौजूदगी के चलते अश्विन को इस बार शुरू से ही जिम्मेदारी उठानी होगी। बल्लेबाज उनके खिलाफ कम जोखिम उठाते है जिसके चलते उनके विकेटों की संख्या प्रभावित हो रही है, लेकिन यदि अश्विन ने गेल का कीमती विकेट ले लिया तो टीम के लिए यह बड़ा तोहफा होगा।
  4. सैमुअल बद्री : सुनील नरेन की अनुपस्थिति में टीम के गेंदबाजी आक्रमण की कमान बद्री ने संभाल रखी है। बद्री साबित कर रहे है कि क्योंकि वे टी-20 प्रारूप में दुनिया के नंबर वन गेंदबाज है। इस बेहद किफायती गेंदबाज के सामने भारतीय बल्लेबाजों को सोच समझकर जोखिम उठाना होगा। यदि उन्होंने बद्री पर काबू पा लिया तो आधी जंग जीत ली समझो। बद्री मात्र 5.5 के इकानॉमी रेट से गेंदबाजी कर रहे हैं और भारत के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली उनके निशाने पर रहेंगे।
  5. आशीष नेहरा : टीम इंडिया में वापसी करने के बाद से आशीष नेहरा किसी युवा गेंदबाज के समान गेंदबाजी कर रहे हैं। वे टीम के गेंदबाजी आक्रमण की जान बने हुए है और पॉवरप्ले में नियमित रूप से टीम को सफलता दिला रहे हैं। इस महत्वपूर्ण मैच में जब सामने गेल जैसा धाकड़ बल्लेबाज हो, यदि उन्होंने इंडीज को शुरुआती झटके दे दिए तो बाद में आने वाले गेंदबाजों का काम आसान हो जाएगा।
  6. ड्वेन ब्रावो: कैरेबियाई ऑलराउंडर ब्रावो भले ही इस विश्व कप में इतने सफल नहीं हो पाए हो, लेकिन उन्हें भारतीय परिस्थितियों और भारतीय कप्तान महेंद्रसिंह धोनी की रणनीति की अच्छी जानकारी है। ब्रावो की यह जानकारी टीम इंडिया के लिए घातक साबित हो सकती है, क्योंकि वे आईपीएल में धोनी के ट्रंप कार्ड हुआ करते थे, जिन्हें माही डेथ ओवरों या संकट के समय इस्तेमाल करते थे। ब्रावो का गति परिवर्तन और विविधतापूर्ण गेंदबाजी उनकी खासियत है और भारतीय बल्लेबाजों को समझदारी से उनका सामना करना होगा।
क्रिकेट की सभी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की सभी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: anand raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप