नई दिल्ली, जेएनएन। India vs West Indies 3rd ODI: भारत और वेस्टइंडीज के बीच हाल ही में तीनों फॉर्मेट के मैच कैरेबियाई सरजमीं पर खेले गए थे। इस दौरे पर भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज का सूपड़ा साफ किया था। अब वेस्टइंडीज की टीम साल 2019 के आखिर में भारत दौरे पर आएगी। इस दौरे का एक वनडे मैच दोनों टीमों के बीच कटक में खेला जाना है, लेकिन इस वनडे मैच पर संकट के बादल छा गए हैं।

दरअसल, भारत और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला 22 दिसंबर को कटक के बाराबती स्टेडियम में खेला जाना है। इससे पहले खबर आ रही है कि ये मुकाबला यहां से शिफ्ट किया जा सकता है, क्योंकि स्टेडियम की खराब हालात है, जहां जल्द मैच होने की संभावना काफी कम है। स्टेडियम की माली हालत इसलिए भी है, क्योंकि यहां इसी साल एक भयंकर तूफान साइक्लोन फणी ने दस्तक दी थी। 

Cyclone Fani ने बिगाड़ी ओडिशा की हालत

साइक्लोन फणी (Cyclone Fani) ने ओडिशा में काफी नुकसान किया था, जिसमें स्टेडियम में भी काफी कुछ हानि हुई थी। बाराबती स्टेडियम में लगी फ्लडलाइट्स, स्टैंड्स, प्रैस बॉक्स और ओल्ड पवेलियन काफी हद तक डैमेज हो गया था। इसके बाद से स्टेडियम में काम नहीं हुआ, क्योंकि इसके लिए काफी पैसे चाहिए थे जो न तो राज्य क्रिकेट संघ के पास हैं और ना ही राज्य सरकार उसके लिए मुहैया करा सकती है।  

ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशन ने स्टेडियम की मरम्मत का काम फंड की कमी के कारण जारी नहीं रखा। करीब 60 लाइट फ्लडलाइट के टॉवर से नीचे गिर गई थीं। ऐसे में स्टेडियम किसी भी डे नाइट मैच को कराने में सक्षम नहीं था। इसके अलावा नए पवेलियन, गैलरी नंबर 5 और डिजिटल स्कोरबोर्ड की छत भी गिर गई थी।  एसोसिएशन ने अभी रेनोवेशन का काम शुरू नहीं किया है। ऐसे में दिसंबर वाला गेम यहां से स्थगित हो सकता है। 

ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशन ने BCCI से मांगी मदद

रिपोर्ट्स में कहा गया है कि ओडिशा राज्य क्रिकेट संघ ने बीसीसीआइ से पांच करोड़ रुपये की मांग की है, जिससे की रेनोवेशन का काम शुरू किया जा सके। उधर, बीसीसीआइ 23 अक्टूबर को होने वाले बोर्ड के चुनाव और एजीएम से पहले किसी को एक पैसा भी देने को तैयार नहीं है। यहां तक कि बीसीसीआइ अगर कुछ दिन में पैसा दे भी दे तब भी स्टेडियम को ठीक कराकर यहां मैच कराने की संभावना बहुत कम है। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप