मैनचेस्टर। भारत से मिली हार को लेकर पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद की जमकर आलोचना हो रही है। उनसे जब यह पूछा गया कि क्या इतने साल में भारत-पाकिस्तान की प्रतिद्वंद्विता का रोमांच खत्म हो गया है तो सरफराज ने कहा कि हम दबाव का ठीक से सामना नहीं कर पा रहे हैं। इस तरह के मैचों में दबाव का सामना करने वाली टीम जीतती है। पाकिस्तान की टीम बीती सदी के अंतिम दशक में बेहतर थी लेकिन अब भारतीय टीम हमसे अच्छी है और यही वजह है कि वे जीत रहे हैं।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पूर्व कप्तान इमरान खान ने अपनी टीम को टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने की सलाह दी थी लेकिन सरफराज ने पहले गेंदबाजी करने के अपने फैसले को सही ठहराते हुए कहा कि तीनों विभागों में नाकामी के कारण उनकी टीम हारी। सरफराज ने कहा कि पूरी टीम तीनों विभागों में अच्छा नहीं खेल पा रही है। यदि आप क्षेत्ररक्षण की बात करें तो विराट कोहली ने भी कहा था कि वह टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनते। पिच पर नमी थी लिहाजा मैंने क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया लेकिन गेंदबाज अनुशासित प्रदर्शन नहीं कर सके। उधर, टीम की फिटनेस के सवाल पर सरफराज ने कहा कि किसी के साथ फिटनेस का कोई मसला नहीं था।

इमाद वसीम को पेट संबंधी तकलीफ थी लेकिन बाकी सभी ने फिटनेस टेस्ट पास कर लिया था। अब हारने पर तो आप कोई भी मसला उठा सकते हैं। सरफराज ने आने वाले चार मैचों में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जताई है। उधर, पाकिस्तान के ऑलराउंडर इमाद वसीम ने अपनी टीम की हार पर निराशा जाहिर करते हुए कहा कि यह हमारे लिए बहुत ही निराशाजनक है। बारिश के बाद जब हम दोबारा खेलने आए तो हमारे पास करने के लिए बहुत कुछ नहीं था। अब इस टूर्नामेंट में बने रहने के लिए हमारे पास गलती करने की कोई संभावना नहीं बची है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Pokhriyal