नई दिल्ली, जेएनएन। अफगानिस्तान के मिस्ट्री स्पिन गेंदबाज़ मुजीब उर रहमान ने मैदान पर उतरते ही इतिहास रच दिया। मुजीब ने भारत के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्ट मैच में जैसे ही मैदान पर कदम रखा उन्होंने एक ऐसा रिकॉर्ड बना दिया जिसे तोड़ना अब किसी के भी बस की बात नहीं है। 

ऐसा नहीं कर पाएगा कोई

17 साल के इस गेंदबाज़ ने भारत के खिलाफ बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में टेस्ट डेब्यू किया। मुजीब का भी यह पदार्पण टेस्ट मैच है और वे 21वीं सदी में जन्म लेने के बाद टेस्ट डेब्यू करने वाले दुनिया के पहले टेस्ट क्रिकेटर बन गए। मुजीब का अफगानिस्तान के खोस्त में 28 मार्च 2001 को जन्म हुआ था। इस सदी में जन्मे और भी क्रिकेटर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलेंगे, लेकिन इस सदी में जन्म लेने के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर बनने का गौरव अब किसी को प्राप्त नहीं होगा।

आइपीएल में चमका सितारा

मुजीब उर रहमान ने  अंडर-19 विश्व कप में दमदार प्रदर्शन किया था। इसके बाद भारत में खेले गए आइपीएल में उन्होंने बड़े-बड़े बल्लेबाज़ों को अपनी फिरकी के फंदे में फंसाया था। मुजीब ने आइपीएल 2018 में किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से खेलते हुए 11 मैचों में 14 विकेट चटकाए थे।

17 साल में किया डेब्यू

मुजीब ने सिर्फ 17 साल और 78 दिन की उम्र मे टेस्ट डेब्यू किया। अभी तक मुजीब अफगानिस्तान की तरफ से 15 वनडे और 5 टी20 मैच खेल चुके हैं

ऐसा करने वाले पहले अफगानिस्तानी खिलाड़ी 

मुजीब ने अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट डेब्यू तो किया ही इसी के साथ वो अफगान टीम की तरफ से बिना कोई प्रथम श्रेणी मैच खेले टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले पहले खिलाड़ी बन गए। आपको बता दें कि मुजीब ने अभी तक अफगानिस्तान की ओर से कोई भी प्रथम श्रेणी मैच नहीं खेला है। मुजीब अब वर्ष 1900 के बाद बिना फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेले सीधे टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाले छठे खिलाड़ी बन गए हैं।

सीधे टेस्ट मैच में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी

 जी. विवियन (न्यूजीलैंड) 1965

 यू. रणछोड़ (जिम्बाब्वे) 1993

 मशरफे मुर्तजा (बांग्लादेश) 2001

 यासिर अली (पाकिस्तान) 2003

नजमुल हुसैन (बांग्लादेश) 2004 

मुजीब उर रहमान (अफगानिस्तान) 2018

 क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

By Pradeep Sehgal