मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच खेले गए पहले टी-20 मैच में हुई एक घटना को लेकर भारतीय के सीनियर क्रिकेटर गौतम गंभीर भड़क गए हैं। कोलकाता के ईडन गार्डंस मैदान खेले गए इस मैच में परांपरा के मुताबिक मैच से पहले घंटी बजाई गई और इस बार ये घंटी टीम इंडिया के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने बजाई।

अजहर के इस घंटी को बजाने को लेकर गौतम गंभीर ने सोशल मीडिया पर आपत्ति जाहिर की है। गंभीर ने अपने ट्वीट में लिखा कि, आज भले भी भारत मैच जीत जाए, लेकिन माफी से साथ कहता हूं कि बीसीसीआइ, सीओए और बंगाल क्रिकेट संघ हार गए। ऐसा लग रहा है कि भ्रष्टता को लेकर नो टोलेरैन्स पॉलिसी संडे की छुट्टी पर चली गई है। मुझे पता है कि इन्हें HCA चुनाव लड़ने की इजाजत मिली थी लेकिन ये हैरानी भरा है। बेल बज रही है, उम्मीद है कि सत्ता ये सुन रही है।'

दरअसल कोलकाता के ईडन गार्डंस मैदान की एक परंपरा है कि मैच शुरू होने के पहले मैदान में लगी घंटी को भारतीय दिग्गज खिलाड़ियों से बजवाया जाता है। इसके बाद ही मैच शुरू होता है। सीरीज के पहले मैच में भी ऐसा ही हुआ। 

जानकारी के लिए बता दें कि साल 2000 में अजरुद्दीन पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे थे जिसके बाद उनपर आजीवन बैन लगा दिया गया था। हालांकि , आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट ने 2012 में उन पर से प्रतिबंध हटा लिया था, लेकिन वो इसके बाद क्रिकेट कभी नहीं खेल पाए थे।

खेल के मैदान के बाद अजहर ने क्रिकेट में प्रशासनिक जिम्मेदारी संभालने की कोशिश की। जनवरी 2017 में वह हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन का चुनाव लड़ने की सोच रहे थे, लेकिन उन्हें रोक दिया गया। इसके पीछे कारण दिया गया कि बोर्ड द्वारा उनके प्रतिबंध की स्थिति पर स्पष्टता की कमी थी। हालांकि बाद बीसीसीआई ने उन्हें चुनाव लड़ने की इजाजत दे दी थी और यह भी स्पष्ट किया कर दिया था कि उनके ऊपर कोई प्रतिबंध नहीं है।

आपको बता दें कि अजहर ने भारत की तरफ से 99 टेस्ट और 334 वनडे मैच खेले हैं। टेस्ट मैचों में उन्होंने 6215 रन तो वनडे मैचों में उनके नाम 9378 रन हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप