नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के पास दूसरे टेस्ट मैच में जीत दर्ज करने का शानदार मौका था जो शायद अब टीम इंडिया ने गंवा दिया है। पहली पारी में टीम इंडिया 242 पर आउट हो गई तो पहली ही पारी में भारतीय गेंदबाजों ने कीवी टीम को 235 रन पर निपटा दिया और टीम इंडिया को छोटी लेकिन सात रन की बढ़त हासिल हुई। ये बढ़त छोटी जरूर थी, लेकिन इससे टीम इंडिया का हौसला बढ़ा और ये साबित हो गया कि भारतीय गेंदबाज मेजबान टीम को भी जल्दी निपटाने की ताकत तो रखते हैं। 

खैर असली कहानी इसके बाद शुरू होती है। भारत के पास अब पूरा मौका था कि वो अच्छी और पूरी ताकत के साथ बल्लेबाजी करें और न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरी पारी में 300 रन बनाएं जो जीत के लिए एक अच्छा टारगेट होता। यही नहीं पहली पारी में टीम के कुछ बल्लेबाज रन नहीं बना पाए थे खास तौर पर विराट कोहली और उन बल्लेबाजों के लिए ये एक अच्छा मौका था कि वो कुछ रन बनाएं और टीम को जीत के मुहाने तक लेकर जाएं, लेकिन हो गया इसका ठीक उल्टा। 

दूसरे टेस्ट मैच में दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया ने 90 रन पर अपने 6 विकेट गंवा दिए। इनमें से पांच बल्लेबाज पृथ्वी शॉ, मयंक अग्रवाल, विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने अपना विकेट गंवा कर टीम के लिए गड्ढ़ा खोद दिया। नाइटवॉच मैच के तौर पर उमेश आए थे, लेकिन वो एक रन बनाकर आउट हो गए। अब टीम को एक अच्छे स्कोर तक पहुंचाने के लिए मजबूत आधार तैयार करने की जिम्मेदारी इन बल्लेबाजों की थी। अब जब आपके पांच अहम बल्लेबाज कम स्कोर पर आउट हो जाएं तो क्या कह सकते हैं। यहां पर न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को श्रेय देना होगा जिन्होंने कसी हुई गेंदबाजी करते हुए इन अहम बल्लेबाजों को आउट किया। 

हालांकि अब उम्मीद हनुमा विहारी, रिषभ पंत और रविंद्र जडेजा पर टिकी है, लेकिन तीसरे दिन सुबह जब खेल शुरू होगा तो इनके लिए कीवी तेज गेंदबाजों का सामना करना आसान नहीं होगा। अगर ये तीनों बल्लेबाज मिलकर यहां से स्कोर को 250 तक भी पहुंचा देते हैं तो फाइट हो सकता है, लेकिन इसके लिए उन्हें कड़ी मेहनत करनी होगी। वैसे ये आसान नहीं दिखता है। जाहिर है यहां पर टीम इंडिया ने खुद के हार की आधार तैयार कर ली है और एक गोल्डन चांस गंवा दिया है जहां से टीम इंडिया को जीत मिल सकती थी।

वैसे क्रिकेट में कुछ भी हो सकता है और उम्मीद इन तीनों बल्लेबाजों से कर सकते हैं, लेकिन अगर ये तीनों ज्यादा स्कोर नहीं कर पाए तो भारत की जीत की उम्मीद पूरी तरह से खत्म हो जाएगी और वनडे के बाद टीम इंडिया को टेस्ट में भी शायद क्लीन स्वीप का सामना करना पड़े। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस