नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच 5वें टेस्ट मैच में भारत ने एक बार फिर खुद को मुश्किल परिस्थिति में डाल लिया है। पहले तो उन्होंने इंग्लैंड को 7 विकेट पर 181 रन से 322 रन बनाने दिए, उसके बाद खराब बल्लेबाजी के कारण उन्हें 40 रन की बेशकीमती बढ़त दे दी। दूसरी पारी में इंग्लैंड ने 2 विकेट पर 114 रन बना लिए हैं और उसके पास अब 154 रन की बढ़त है।

सोमवार को मैच का चौथा दिन है और इंग्लैंड तेजी से रन बनाते हुए भारत को बड़े से बड़ा लक्ष्य देने की कोशिश करेगा। वैसे भी इंग्लैंड के अभी 2 विकेट ही गिरे है इसलिए उनके बल्लेबाज खुल कर बल्लेबाजी कर सकती है।

वहीं भारत के नजरिये से दिखे तो भारत की परेशानी किसी तरफ से खत्म नहीं हो रही है और अब चौथी पारी में इस पिच पर बल्लेबाजी करना बिल्कुल आसान नहीं होगा। वैसे भी जिस तरह से भारतीय बल्लेबाज इंग्लैंड के तेज गेंदबाज और मोइन अली के सामने संघर्ष कर रहे हैं, उसे देखकर तो यही लग रहा है कि इंग्लैंड ने अगर यहां से 150 रन भी बना लिए तो भारत के लिए मुसीबत खड़ी होना तय है। मुसीबत इसलिए भी बढ़ सकती है क्योंकि जब पहली पारी में पिच बल्लेबाजी के अनुकूल थी तब भी भारतीय बल्लेबाज 292 रन ही बना पाए।

भारतीय बल्लेबाजों में विश्वास की वैसे ही कमी है, कप्तान विराट कोहली को छोड़ दे तो कोई दूसरा बल्लेबाज नजर नहीं आता जिस पर विश्वास की जा सके कि वह अपने दम पर मैच जिता ले जाएगा। इस सीरीज में चौथी पारी में भारत के बल्लेबाज लगातार सरेंडर कर रहे हैं। सीरीज के पहले ही मैच में वह 174 रन का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाए और उन्हें 31 रन से हार का सामना करना पडा़।

इसके बाद भारतीय टीम ने तीसरे टेस्ट में भी यही कहानी दोहराई। टीम इंडिया को 244 रन का लक्ष्य मिला था और वह केवल 184 रन पर ढेर हो गई। इसी के साथ भारत ने 60 रन से मैच गंवा दिया बल्कि सीरीज जीतने का उसका सपना सपना ही रह गया। अब 5वें टेस्ट में भी हालात अच्छी नहीं दिख रहे है लेकिन उम्मीद है इस बार पहले भारत के गेंदबाज कमाल दिखाते हुए इंग्लैंड के बल्लेबाजों को जल्दी पवेलियन भेजेंगे फिर बल्लेबाज पूरे दौरे की निराशा को भूल सीरीज का अंत जीत से करेंगे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस