मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड टेस्ट में खेले जा रहे पहले टेस्ट के पहले दिन लंच से पहले ही भारत ने 56 रन पर 4 विकेट गंवा दिए। खेल के पहले ही घंटे में जिस तरह से भारतीय बल्लेबाजों ने शॉट खेले, उससे ना केवल क्रिकेट दिग्गज बल्कि फैंस भी हैरान है।

क्रिकेट के छोटे से छोटे फैंस को पता है कि दिन के पहले घंटे में गेंद के साथ ज्यादा छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए लेकिन ये छोटी से बात भारतीय बल्लेबाजों के समझ में नहीं आई। भारत के महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर भी टीम इंडिया के इस रवैये से नाराज दिखे।

खेल की शुरुआत से ही भारतीय बल्लेबाज ऑफ स्टंप की गेंद को छोड़ने की जगह उसे खेलने की कोशिश करते रहे, जिसका खामियाजा उन्हें अपना विकेट गंवा कर चुकाना पड़ा। सबसे पहले केएल राहुल की करते हैं, विराट कोहली के फेवरेट राहुल के बारे में अभ्यास मैच के बाद बल्लेबाजी कोच संजय बांगर ने कहा था कि वह आउट होने के नए नए तरीके खोज रहे हैं और इस पारी में भी उनसे यही देखने को मिला। तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड की बाहरी जाती गेंद से छेड़छाड़ के चक्कर में वह एरोन फिंच को कैच थमा बैठे।

इसके बाद टीम में वापसी कर रहे मुरली विजय भी इसी तरह की गलती करते हुए मिचेल स्टार्क का शिकार बने। इसके बाद कप्तान कोहली ने भी आते ही शॉट्स खेलकर दवाब हटाने की कोशिश की लेकिन  उस्मान ख्वाजा शानदार कैच पकड़ उनका ये दांव फेल कर दिया और टीम इंडिया को और दबाव में डाल दिया।

वहीं टीम के उपकप्तान अजिक्य रहाणे का शॉट देखकर निराशा नहीं बल्कि गुस्सा आता है। जब टीम मुसीबत में हो और कोई बल्लेबाज घटिया शॉट खेले तो होगा भी यही। रहाणे अच्छी लय में दिख रहे थे लेकिन ना जाने अचानक क्या हुआ कि उन्होंने टी-20 मैच में खेले जाने वाला शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन गति और उछाल ने उन्हें मात दी और हेजलवुड की गेंद पर वह स्लिप में हैंड्सकॉम्ब को कैच थमा बैठे। अब अगर भारतीय बल्लेबाज इसी तरह खेलते रहे तो पहली बार ऑस्ट्रेलिया में जीतने का सपना, सपना ही रहा जाएगा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप