नई दिल्ली, आइएएनएस। मैदान के बाहर विवादों के चलते हार्दिक पांड्या देश के लिए कुछ मैच खेल नहीं पाए थे, लेकिन मुंबई इंडियंस से खेलते हुए चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ उन्होंने जो फॉर्म दिखाई है उससे चयनकर्ता काफी खुश होंगे।

इंग्लैंड में 30 मई से विश्व कप शुरू हो रहा है। ऐसे में चयनकर्ताओं को पांड्या को फॉर्म में देखकर राहत की सांस आई होगी। चयनकर्ता वैसे भी आइपीएल में कड़ी नजर बनाए रखे हुए हैं। पांड्या ने बुधवार को चेन्नई के खिलाफ आठ गेंदों पर 25 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली थी। राष्ट्रीय चयन समिति के एक सदस्य ने कहा कि बीते महीनों में जो हुआ वो दुर्भाग्यशाली था और पांड्या का इस आइपीएल में प्रदर्शन बताता है कि उन्होंने अपने अतीत को पीछे छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि विश्व कप पास है और एक चयनकर्ता के तौर पर हार्दिक को इस तरह की बल्लेबाजी करते हुए देखना अच्छा लगता है। यह बताता है कि वह आगे निकल चुके हैं और अपने खेल पर ध्यान दे रहे हैं। जो हुआ उसे बदला नहीं जा सकता, लेकिन आप अपनी गलतियों से कैसे सीखते हैं यह बात मायने रखती है और यही आपके सही चरित्र को बताती है।

भारतीय टीम प्रबंधन में मौजूद सूत्र ने भी चयनकर्ता की बात में हामी भरी और कहा कि उनके पास एक्स फैक्टर है। वह निडर हैं। मान लीजिए विश्व कप में आपको बड़े लक्ष्य का पीछा करना हो, ऐसे में वह आपको मैच जिता सकते हैं। या अगर आपको विकेट चाहिए हों तो कप्तान हमेशा उन्हें गेंद थमा सकता है। वह उन खिलाडि़यों में से हैं जो चुनौतियों से पार पाना पसंद करते हैं। पांड्या का फॉर्म में होना भारत के लिए हमेशा से अच्छा ही रहेगा।

इंग्लैंड में उपमहाद्वीप की टीमों को होगा फायदा : पीटरसन

नई दिल्ली, प्रेट्र। पूर्व कप्तान केविन पीटरसन का मानना है कि इंग्लैंड का गर्म मौसम विश्व कप में उपमहाद्वीप की टीमों के लिए मददगार होगा लेकिन पिचें मेजबान की मदद करेंगी।

पीटरसन ने कहा कि पिछली गर्मियों में बारिश बिल्कुल भी नहीं हुई। हमने भारत के खिलाफ वर्ष 2000 में टेस्ट खेला। पहले दिन विकेट हरा भरा था लेकिन दूसरे दिन सूख गया। बारिश नहीं हुई, लेकिन नमी थी जो बाद में सूख गई।

उन्होंने कहा कि पिछली गर्मियों की तरह मौसम रहा तो उपमहाद्वीप की टीमों को काफी फायदा होगा। वैसे हरी भरी पिचें इंग्लैंड के गेंदबाजों की मदद करेंगी। पीटरसन ने हालांकि कहा कि वेस्टइंडीज की तरह गेंद स्विंग करेगी तो इंग्लैंड को मुश्किल हो सकती है।

महान बल्लेबाज ब्रायन लारा का मानना है कि वेस्टइंडीज ने अपनी धरती पर हाल ही में अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन विश्व कप में लगातार अच्छा खेलने वाली टीम ही जीतेगी। उन्होंने कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज से आशा की किरण जगी है लेकिन हमने घर में अच्छा खेला है। अब हमारे पास ऐसी टीम है जो घरेलू हालात को बखूबी समझती है, लेकिन चार महीने पहले हालात बहुत खराब थे। हमने कुछ प्रगति की है। इंग्लैंड में हालांकि हमें लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा।

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप