क्राइस्टचर्च, प्रेट्र। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) के मैच रेफरी के अंतरराष्ट्रीय पैनल में जगह बनाने वाली पहली महिला भारत की जीएस लक्ष्मी रविवार को आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच होने वाले महिला विश्व कप फाइनल में मैच रेफरी होंगी।

पुरुष वनडे अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में मैच रेफरी की भूमिका निभाने वाली लक्ष्मी पहली महिला मैच रेफरी हैं। उन्होंने दिसंबर 2020 में यूएई में विश्व कप लीग दो के दौरान यह भूमिका निभाई थी। हेगले ओवल में होने वाले महिला विश्व कप फाइनल के दौरान क्रिकेट इतिहास में पहली बार चार महिला मैच अधिकारी भूमिका निभाएंगी। आस्ट्रेलिया ने सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज जबकि इंग्लैंड ने दक्षिण अफ्रीका को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी। फाइनल के लिए दक्षिण अफ्रीका की लारेन एगेनबर्ग और न्यूजीलैंड की किम काटन मैदानी अंपयार होंगी जबकि वेस्टइंडीज की जैकलीन विलियम्स टीवी अंपायर की भूमिका निभाएंगी।

आस्ट्रेलिया और भारत के बीच एमसीजी में हुए 2020 महिला टी-20 विश्व कप फाइनल के दौरान काटन एकमात्र महिला अधिकारी थी। उन्होंने अहसन रजा के साथ मैदानी अंपायर की भूमिका निभाई थी। जमैका की रहने वाली जैकलीन 2020 में पुरुष अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तीसरे अंपायर की भूमिका निभाने वाली पहली महिला बनी थी। उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ वेस्टइंडीज की तीन मैच की घरेलू टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज में यह भूमिका निभाई थी। जिंबाब्वे के लेंगटन रुसेरे चौथे अंपायर होंगे। आइसीसी के अनुसार, 'खेल में लैंगिक समानता के प्रति रणनीति प्रतिबद्धता को देखते हुए आइसीसी अंतरराष्ट्रीय महिला मैच अधिकारियों की संख्या बढ़ाने पर ध्यान दे रहा है और इस प्रतियोगिता में 15 में से आठ मैच अधिकारी महिलाएं थीं।'

सोफी खतरनाक गेंदबाज : गार्डनर

क्राइस्टचर्च, प्रेट्र। आस्ट्रेलिया की आलराउंडर एश्ले गार्डनर ने कहा है कि वह इंग्लैंड के खिलाफ रविवार को यहां होने वाले आइसीसी महिला विश्व कप फाइनल में बायें हाथ की स्पिनर सोफी एकलेस्टोन के 'खतरे' से अच्छी तरह वाकिफ हैं।

हेगले ओवर में इन दो शीर्ष टीम के बीच खिताबी मुकाबला होगा और सोफी अब तक टूर्नामेंट में 12.5 की औसत से 20 विकेट चटकाकर सबसे सफल गेंदबाज हैं। इस दौरान उनका इकोनोमी रेट भी चार रन प्रति ओवर से कम रहा। गार्डनर ने कहा, 'सोफी खतरनाक गेंदबाज हैं। वह किसी कारण से ही नंबर एक गेंदबाज हैं। वह बायें हाथ की शानदार स्पिनर हैं और वह काफी लंबी हैं इसलिए उन्हें काफी अधिक उछाल मिलता है।' सोफी के संदर्भ में गार्डनर ने कहा, 'स्पिन की अनुकूल पिच पर वह गेंद को टर्न करा सकती है। वह निश्चित तौर पर ऐसी गेंदबाज है जिसे हम खतरे के रूप में देखते हैं। वह ऐसी गेंदबाज है जिसे हम विकेट नहीं देना चाहते। पहले मैच में हमारी बल्लेबाजों ने उनका शानदार तरीके से सामना किया जहां उन्हें कोई विकेट नहीं मिला और उन्होंने 70 से अधिक रन खर्च किए।'

आस्ट्रेलिया की स्टार आलराउंडर एलिस पैरी पीठ में दर्द के कारण बांग्लादेश के खिलाफ अंतिम लीग मैच और वेस्टइंडीज के खिलाफ सेमीफाइनल में नहीं खेल पाई लेकिन गार्डनर को भरोसा है कि यह खिलाड़ी फाइनल के लिए उपलब्ध रहेगी।

आस्ट्रेलिया को हरा सकते हैं : एक्लेस्टोन

क्राइस्टचर्च, प्रेट्र। इंग्लैंड की बायें हाथ की स्पिनर सोफी एक्लेस्टोन का कहना है कि उनकी टीम अगर अपना सर्वश्रेष्ठ करे तो वह किसी भी दिन मजबूत आस्ट्रेलिया को हरा सकती है।

टूर्नामेंट की सर्वाधिक विकेट चटकाने वाली इस गेंदबाज ने साथ ही कहा कि उनकी टीम अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट नहीं खेलने के बावजूद फाइनल तक पहुंचने में सफल रही। उन्होंने कहा, 'आस्ट्रेलिया को फाइनल में हराना, एशेज में हमारा जैसा प्रदर्शन रहा है, उसके बाद अगर हम ऐसा करते हैं तो मैं इसे शब्दों में बयां नहीं कर सकती। मेरा मानना है कि यह टीम किसी भी दिन निश्चित रूप से आस्ट्रेलिया को हरा सकती है, हमारे पास एक बढि़या मौका है।'

इंग्लैंड का विश्व कप से पहले प्रदर्शन काफी खराब रहा जिसमें टीम एशेज में अपनी पारंपरिक प्रतिद्वंद्वी से हार गई। इसके बाद विश्व कप के शुरुआती मैच में भी उन्हें आस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा, 'मैं जानती हूं कि अगर हम अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलें और हमारे बल्लेबाज वैसी बल्लेबाजी करें जैसा वे कर सकते हैं और गेंदबाज वैसी गेंदबाजी करें जैसी वे कर सकते हैं तो हमारे पास इतनी बढि़या इकाई है। इसलिए हम सिर्फ खुद पर ध्यान लगाएंगे और अपना सर्वश्रेष्ठ करेंगे।'

Edited By: Sanjay Savern

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट