नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। इंटरनेशन क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने मंगलवार को पहली बार वुमेंस फ्यूचर टूर (FTP) की घोषणा की, जो अगले तीन वर्षों में 10 टीमों के लिए द्विपक्षीय अंतर्राष्ट्रीय दौरों पर क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में लागू होगी। एक आधिकारिक प्रेस रिलीज में कहा गया आइसीसी महिला चैम्पियनशिप (आईडब्ल्यूसी) जोकि 10-टीम का होगा खेला जाएगा। 2022-25 के बीच इस दौरान कुल 300 मैच खेले जाएंगे।

इस दौरान 7 टेस्ट मैच खेलने की भी योजना है। भारत इस दौरान इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की मेजवानी करेगा। दोनों टीमों से टीम एक-एक टेस्ट मैच खेलेगी जिसका आयोजन दिसंबर 2023 में होगा। भारतीय महिला टीम अगस्त 2022 से जनवरी 2025 के बीच 2 टेस्ट, 24 वनडे और 36 टी20 मैच खेलेगी।

इन कार्यक्रमों के दौरान दो मल्टी फॉर्मेट एशेज सीरीज खेली जाएगी जिसमें एक टेस्ट, तीन वनडे और तीन टी20 मैच खेले जाएंगे। यह 2023 में इंग्लैंड में और 2025 में ऑस्ट्रेलिया में खेला जाएगा। इसमें से पहले सीरीज के तीन वनडे मैच आइसीसी वुमेंस चैंपियनशिप का हिस्सा होंगे जिससे 2025 के लिए डायरेक्ट क्वालीफिकेशन हासिल की जा सकती है। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया एक टेस्ट, तीन वनडे और तीन टी20 मैच भारत में खेलेगी।

इस मौके पर आइसीसी के जेनरल मैनेजर क्रिकेट वसीम खान ने कहा कि "यह महिला क्रिकेट के लिए एक बड़ा क्षण है। यह एफटीपी न केवल महिला टीमों के फ्यूचर टूर निर्धारित करेगा बल्कि आने वाले दिनों में यह महिला क्रिकेट की आधारशिला को मजबूत बनाएगा।"

उन्होंने आगे कहा कि "एफटीपी में आइसीसी महिला चैंपियनशिप को भी शामिल किया गया है जो खेल को अगले स्तर तक ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है और इस साल न्यूजीलैंड में विश्व कप में हमने जो रोमांचक मैच देखे वह इसी का परिणाम है।" अगले साल वुमेन आइपीएल के आयोजन की भी बात चल रही है। ऐसे में आने वाला तीन साल वुमेन क्रिकेट के लिए शानदार होने वाले हैं।

Edited By: Sameer Thakur