लाहौर, एएफपी। एक स्वतंत्र कोर्ट ने पाकिस्तान के विश्व टी-20 विजेता टीम के ओपनर शाहजेब हसन पर एक वर्ष की जगह चार वर्ष का प्रतिबंध लगा दिया।

हसन पर फरवरी में ही प्रतिबंध लगा था क्योंकि उन्होंने एंटी करप्शन यूनिट को स्पॉट फिक्सिंग के बारे में जानकारी नहीं दी थी। एक स्वतंत्र जज रिटायर हामिद हुसैन ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की अपील को स्वीकारते हुए शाहजेब के प्रतिबंध को चार वर्ष कर दिया है। शाहजेब उन छह खिलाडि़यों में शामिल हैं, जिन्हें पिछले वर्ष पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग में लिप्त पाया गया था।

शाहजेब के अलावा शरजील खान, खालिद लतीफ, मुहम्मद इरफान, मुहम्मद नवाज और नासिर जमशेद को भी स्पॉट फिक्सिंग में लिप्त पाया गया था। जमशेद पर भी आजीवन प्रतिबंध लग सकता है। इसका फैसला अगले सप्ताह आने की उम्मीद है। वहीं शाहेजब के वकील काशिफ रजवाना ने कहा कि वह इस फैसले को कोर्ट में चुनौती देंगे। शाहजेब ने अपने आखरी तीन वनडे नवंबर 2010 में खेले थे।

Posted By: Sanjay Savern