नई दिल्ली, जेएनएन। श्रीलंकाई क्रिकेट टीम की बस पर पाकिस्तान के लाहौर में आतंकवादी हमला हुआ था। बावजूद इसके श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड ने पाकिस्तान में खेलने के लिए फिर से हामी भर ली है। श्रीलंका क्रिकेट और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के बीच करार भी हो चुका है। दोनों टीम दस साल के बाद पाकिस्तान में खेलने के लिए राजी हो गई हैं, लेकिन कुछ श्रीलंकाई क्रिकेटर ऐसे हैं जो पाकिस्तान जाने के लिए तैयार नहीं हैं।

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, श्रीलंकाई टीम के कुछ सदस्य ऐसे हैं जो पाकिस्तान में जाकर वहां तीन मैचों की वनडे और इतने ही मैचों की टी20 सीरीज खेलने के लिए तैयार नहीं हैं। श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच सितंबर और अक्टूबर में ये वनडे और टी20 सीरीज होने वाली है, लेकिन इससे पहले श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड की नींद कुछ खिलाड़ियों ने उड़ा रखी है।  

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों देशों के बीच काफी बातचीत के बाद वनडे और टी20 सीरीज का शेड्यूल तय किया गया था, लेकिन श्रीलंका के विकेटकीपर बल्लेबाज निरोशन डिकवेला और ऑलराउंडर थिसारा परेरा समेत कई खिलाड़ी इस टूर पर जाने के लिए तैयार नहीं हैं। इन दो खिलाड़ियों ने साफ मना कर दिया है, जबकि कुछ खिलाड़ी अभी भी बोर्ड को ये सुनिश्चित नहीं करा पाए हैं कि उन्हें पाकिस्तान जाना है या नहीं। 

ये भी पढ़ें: जानिए किस खिलाड़ी को मिला कौन सा अवार्ड और कितने लाख की इनामी राशि

इतना नहीं, पाकिस्तान में ना खेलने की वजह से निरोशन डिकवेला और थिसारा परेरा ने श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड से इस बात के लिए अनुमति की मांग की है कि 4 सितंबर से 12 अक्टूबर के बीच खेली जाने वाले कैरेबियन प्रीमियर लीग (CPL) में हिस्सा लेना चाहते हैं। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि सीपीएल इन खिलाड़ियों के लिए बहाना है, जबकि ये लोग 2009 की घटना से डरे हुए हैं।  

गौरतलब है कि श्रीलंकाई टीम बस पर लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम के आसपास लाहौर में आतंकी हमला हुआ था, जिसमें कुछ लोगों की जान गई थी। यहां तक कि कुछ श्रीलंकाई क्रिकेटरों को चोट भी लगी थी। ऐसे में तमाम देशों ने पाकिस्तान में खेलने से इनकार कर दिया है। यहां तक कि बीते दस साल में पाकिस्तान में एक भी टेस्ट मैच नहीं खेला गया है। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप