नई दिल्ली, जेएनएन। पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फीक्सिंग का आरोप झेल रहे पाक ओपनर नासिर जमशेद पर पीसीबी ने 10 साल का बैन लगा दिया है। नासिर पर साल 2016-17 के पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग का आरोप लगा है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की एंटी करप्शन यूनिट ने ये फैसला करते हुए इसकी जानकारी ट्वीट पर दी। 

इससे पहले नासिर जमशेद ने अपने ऊपर लगाए गए सभी आरोपों को नकार दिया था। इसके बाद पीसीबी ने एक बयान जारी कर कहा था कि इस मामले की जांच के लिए एक 3 सदस्यीय एंटी करप्शन कमेटी बनाई जाएगी। अब इसी कमेटी ने नासिर को स्पॉट फिक्सिंग का आरोपी माना और उन पर 10 साल का बैन लगा दिया।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने बयान में कहा कि जमशेद भ्रष्टाचार रोधी संहिता के उल्लंघन के लिए खेल के सभी प्रारूपों से निलंबित रहेगा। बाएं हाथ के 27 वर्षीय बल्लेबाज जमशेद ने पाकिस्तान की ओर से दो टेस्ट, 48 वनडे और 18 टी20 मैच खेले हैं। वह पिछली बार 2015 विश्व कप के दौरान राष्ट्रीय टीम का हिस्सा थे।

तमाम आरोपों के बाद जमशेद ने कहा था कि वह ब्रिटेन में थे इसलिए पीसीबी खिलाड़ियों को उनके खिलाफ बोलने के लिए बाध्य कर रहा था। जमशेद ने वीडियो कहा, ‘पीसीबी मेरे साथ अनुचित रवैया अपना रहा है। बोर्ड अधिकारी मेरे खिलाफ बयान देने के लिए खिलाड़ियों पर दबाव डाल रहे हैं। ऐसा लगता है कि वे मुझे बदनाम करना चाहते हैं।

गौरतलब है कि इसके पहले भी पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग के मामले में कई पाकिस्तानी क्रिकेटरों के नाम आ चुके हैं इससे पहले शरजील खान, खालिद लतीफ और मोहम्मद इरफान का नाम स्पॉट फिक्सिंग में आ चुका है, हालांकि बाद में मोहम्मद इरफान से इन आरोपों को वापस ले लिया गया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Lakshya Sharma