लंदन, प्रेट्र। न्यूजीलैंड के खिलाफ धमाकेदार टेस्ट पदार्पण करने वाले इंग्लिश गेंदबाज ओली राबिंसन की वजह से उठा अश्लील और लिंग भेद वाला ट्वीट विवाद अब कई बड़े खिलाड़ियों को चपेट में ले रहा है। वनडे व टी-20 के कप्तान इयान मोर्गन, सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर भी जांच के घेरे में फंस गए हैं। इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड इंटरनेट मीडिया पर की गई टिप्पणियों पर कार्रवाई के मूड में है।

भारतीयों का मजाक उड़ाने वाली कथित नस्लीय टिप्पणियों के लिए ईसीबी मोर्गन और विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर की जांच कर रहा है। ईसीबी ने प्रासंगिक और उचित कार्रवाई का वादा करते हुए कहा कि प्रत्येक मामले में व्यक्तिगत आधार पर विचार किया जाएगा। बटलर और मोर्गन ने इन पोस्ट में भारतीयों का मजाक उड़ाने के लिए कटाक्ष करते हुए 'सर' का उपयोग किया था।

बटलर और मोर्गन विवाद भारत से जुड़ा

अब बटलर के संदेश का स्क्रीनशॉट ईसीबी से साझा किया गया है जिसमें उन्होंने लिखा, 'मैं सर नंबर एक को हमेशा यही जवाब देता हूं, मेरे जैसा, आप जैसा, मेरे जैसा।' मोर्गन ने बटलर को टैग करके एक संदेश में लिखा, 'सर आप मेरे पसंदीदा बल्लेबाज हो।' बटलर इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हैं जबकि मोर्गन कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान हैं। हालांकि इन ट्वीट के सटीक संदर्भ पर सवालिया निशान लगा है लेकिन यह ऐसे समय में लिखे गए। तब तक बटलर और मोर्गन इंग्लैंड के स्थापित खिलाड़ी बन चुके थे।

एंडरसन ने किया था अश्लील कमेंट

जेम्स एंडरसन का वर्ष 2010 का समलैंगिकता से जुड़ा एक ट्वीट भी सामना आया है। एंडरसन ने ब्रिटिश मीडिया से कहा कि मेरे लिए यह 10-11 साल पुरानी बात है। मैं एक व्यक्ति के रूप में बदल गया हूं। चीजें बदलती हैं, आप गलतियां करते हैं। 38 साल के एंडरसन ने टीम के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को लेकर फरवरी 2010 में ट्वीट किया था, 'आज मैंने पहली बार ब्रॉडी का नया हेयरकट देखा। इसके बारे में निश्चित नहीं हूं। वह 15 साल के समलैंगिक की तरह लग रहा था।'

राबिंसन को निलंबित करना सही फैसला : होल्डिंग

वेस्टइंडीज के पूर्व महान तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने ओली राबिंसन को निलंबित किए जाने के फैसले का समर्थन किया है। होल्डिंग ने कहा कि ईसीबी का मामले की जांच करने का फैसला काम के माहौल को सही करने और मामले को जल्दी निपटाकर राबिंसन के जीवन पर गैर-जरूरी असर पड़ने से रोकने में मदद करेगा। मुझे नहीं लगता कि उसे लंबे समय तक के लिए निलंबित किया जाएगा। उन्हें इस मामले की जांच जल्दी करनी चाहिए क्योंकि इसका असर काफी ज्यादा होने वाला है। इसका असर उसकी जिंदगी पर पड़ेगा। सिर्फ क्रिकेटीय जिंदगी पर ही नहीं बल्कि सामान्य जीवन पर भी।

उन्होंने कहा कि, मैं उम्मीद करता हूं कि ईसीबी अच्छा काम करे और इसे जल्दी से निपटाए। मैंने अन्य कार्यस्थल में देखा है कि अगर लोगों के साथ कोई विवाद होता है तो उन्हें मामले की जांच पूरी होने तक निलंबित कर दिया जाता है। अगर वह निर्दोष साबित होते हैं तो नौकरी पर वापस आते हैं और अगर नहीं तो फिर आगे की कार्रवाईी जाती है। होल्डिंग नस्लवाद के खिलाफ बुलंद आवाज उठाने वालों में से रहे हैं।

ट्विटर की सफाई में जुटे खिलाड़ी

राबिंसन के विवाद के गहराने के बाद डॉम बेस ने अपना ट्विटर एकाउंट डिऐक्टिव कर दिया है। वह किसी भी तरह की जांच में नहीं पड़ना चाहते। इस बीच कुछ खिलाड़ी अपने इंटरनेट मीडिया एकाउंट की सफाई में जुट गए हैं। वे ऐसे ट्वीट हटाने में जुटे हैं जो उनके लिए परेशानी का सबब बन सकते हैं।