दुबई, प्रेट्र। आइसीसी ने बुधवार को इस बात की घोषणा की कि इंग्लैंड व पाकिस्तान के बीच खेले जा रहे तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के दौरान फ्रंटफुट नोबॉल का फैसला मैदान पर मौजूद अंपायर नहीं बल्कि टीवी अंपायर करेंगे। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब टीम अंपायर फ्रंटफुट नोबॉल का फैसला करेंगे। आइसीसी ने कहा कि इस टेस्ट सीरीज के दौरान वो फ्रंटफुट नोबॉल के तकनीक की समीक्षा करेंगे और बाद में ये फैसला लिया जाएगा कि इसे जारी रखा जाएगा या नहीं। 

आइसीसी ने ट्वीट करके बताया कि इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच तीम मैचों की टेस्ट सीरीज के दौरान फ्रंटफुट नोबॉल तकनीक का इस्तेमाल किया जायेगा । दोनों टीमों ने इसके लिये सहमति जताई है। इस ट्वीट के जरिए कहा गया कि इस टेस्ट सीरीज में तकनीक के इस्तेमाल की समीक्षा करने के बाद भविष्य के लिये फैसला लिया जायेगा। आपको बता दें कि हाल ही में इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच वनडे सीरीज में भी इसका इस्तेमाल किया गया । वहीं पिछले साल भारत और वेस्टइंडीज के बीच सीमित ओवरों की सीरीज में भी इसका प्रयोग किया गया था ।

आपको बता दें कि कोविड 19 महामारी के बीच क्रिकेट को फिर से सामान्य स्थिति मे लाने के लिए इंग्लैंड में पहले वेस्टइंडीज की टीम ने दौरा किया और तीन मैचों की टेस्ट सीरीज भी खेली। इस टेस्ट सीरीज में कैरेबियाई टीम को 2-1 से हार का सामना करना पड़ा था। वहीं वेस्टइंडीज के साथ टेस्ट सीरीज खत्म होने के बाद पाकिस्तान की टीम इंग्लैंड दौरे पर है जहां दोनों देशों के बीच पहले तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी। इसके बाद दोनों देशों के बीच इतने ही मैचों की टी20 सीरीज भी खेली जाएगी। इस टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड के हौसले बुलंद हैं क्योंकि उन्होंने पहले ही वेस्टइंडीज को हराया है, तो वहीं पाकिस्तान की टीम की भी नजर टेस्ट सीरीज में जीत पर है। हालांकि शाहिद अफरीदी ने कहा था कि अगर पाकिस्तान की टीम टेस्ट सीरीज ड्रॉ भी कर लेती है तो ये जीत के बराबर ही होगी। 

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021