नई दिल्ली, जेएनएन। कनाडा में खेले जा रहे ग्लोबल टी-20 टूर्नामेंट में विनिपेग हॉक्स के कप्तान ड्वेन ब्रावो ने अचानक अपना नाम टूर्नामेंट से वापस ले लिया, जिसके बाद अब विनिपेग हॉक्स की कप्तानी ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर को सौंप दी गई है। वॉर्नर दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर बॉल टेंपरिंग के कारण एक साल का बैन झेल रहे हैं। अब वॉर्नर इस टीम की कमान संभालेंगे। इसके पहले कैरेबियाई ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो इस टीम के कप्तान थे लेकिन 3 मैचों के बाद उन्होंने इस टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले लिया जिसके चलते टीम की कमान अब वॉर्नर को सौंपी गई है।

विनिपेग हॉक्स ने अभी तक ड्वेन ब्रावो की कप्तानी में 3 में मैच खेले हैं जिनमें से 2 मैचों में उसे जीत हासिल हुई है। हॉक्स के कोच वकार युनुस ने वॉर्नर को कप्तान बनाए जाने पर खुशी जाहिर की है। कोच वकार युनुस ने कहा कि अब विनिपेग हॉक्स की टीम को डेविड वॉर्नर के अनुभव का पूरा फायदा मिलेगा। वकार ने कहा कि वॉर्नर की तारीफ करते हुए बताया कि वो एक बेहतरीन कप्तान हैं, वॉर्नर अपनी टीम को साथ लेकर चलते हैं। मैंने आइपीएल में वॉर्नर को कप्तानी करते हुए देखा है, जहां उन्होंने हैदराबाद के लिए शानदार कप्तानी की है।

आपको बता दें कि बॉल टेंपरिंग के बाद डेविड वॉर्नर एक साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने तो वॉर्नर को सजा सुनाते हुए ये भी कहा था कि अब वॉर्नर भविष्य में कभी भी राष्ट्रीय टीम के कप्तान नहीं बनाए जाएंगे, लेकिन बॉल टेंपरिंग और बैन के इस तूफान के बाद वॉर्नर ने ग्लोबल टी-20 कनाडा टूर्नामेंट में हिस्सा लेकर क्रिकेट के मैदान में वापसी की जिसके बाद अब वॉर्नर को यहां कप्तानी की जिम्मेदारी भी मिल गई है। हालांकि इस टूर्नामेंट में अभी तक उनका प्रदर्शन उतना अच्छा नहीं रहा है। इसके पहले वॉर्नर ने भारत में खेले जाने वाले आइपीएल टूर्नामेंट के साल 2016 सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद को अपनी कप्तानी में चैंपियन बनाया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Ravindra Pratap Sing