कराची, पीटीआइ। आइसीसी के मुख्य कार्यकारी (सीईओ) डेव रिचर्डसन ने साफ किया कि खेल की संचालन संस्था भारत को पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज खेलने के लिए मजबूर नहीं कर सकती। रिचर्डसन ने इस बात को भी नकार दिया कि आइसीसी का पाकिस्तान क्रिकेट की तुलना में भारत की तरफ अधिक झुकाव है।

रिचर्डसन ने कहा कि मौजूदा स्थिति में जल्द ही भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय संबंधों को फिर से शुरू करने की संभावना नहीं दिखाई दे रही है। उन्होंने कहा कि भारत आइसीसी को बहुत सारे व्यवसाय देता है लेकिन हमारी नजरों में सभी सदस्य राष्ट्र समान हैं।

उन्होंने कहा, 'भारत अगर पाकिस्तान के साथ खेलने के लिए तैयार नहीं है तो हम उन्हें मजबूर नहीं कर सकते। द्विपक्षीय सीरीज दो क्रिकेट बोर्ड के बीच आपसी समझौते से खेली जाती हैं। हम भी चाहते हैं कि भारत और पाकिस्तान द्विपक्षीय सीरीज खेलें, लेकिन उनके बीच राजनीतिक तनाव है और किसी भी तरह की क्रिकेट मौजूदा संबंधों पर निर्भर करता है।'

बता दें कि दोनों देशों के बीच 2014 में एक समझौता हुआ था, जिसके मुताबिक दोनों देशों को 2015 से 2023 तक 6 द्वीपक्षीय सीरीज खेलनी है, लेकिन दोनों देशों के बीच राजनीतिक हालात खराब होने के चलते भारत ने सीरीज खेलने से इंकार कर दिया है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Mohit Tanwar