मुंबई, प्रेट्र। बीसीसीआइ ने मंगलवार को आइपीएल के 2023-2027 सत्र के लिए मीडिया अधिकार की निविदा जारी की, जिससे उसे 50,000 करोड़ रुपये की कमाई की उम्मीद है।

बोर्ड के सचिव जय शाह ने कहा कि बीसीसीआइ आइपीएल इतिहास में पहली बार नई बोली लगाने वालों के लिए ई-नीलामी की व्यवस्था करेगा और यह 12 जून से शुरू होगी। शाह ने ट्वीट किया, 'दो नई टीमों, अधिक मैचों, अधिक स्थानों और अधिक जुड़ाव के साथ हम आइपीएल को नई और अधिक ऊंचाइयों पर ले जाना चाहते हैं। मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि इस प्रक्रिया से न केवल अधिकतम राजस्व हासिल होगा, बल्कि इसका महत्व भी अधिकतम होगा, जिससे भारतीय क्रिकेट को अत्यधिक लाभ होगा।'

भारत में आइपीएल का एकमात्र लाइव स्ट्रीमिंग मंच डिज्नी प्लस हाटस्टार है। गुजरात और लखनऊ फ्रेंचाइजी को शामिल करने के बाद आइपीएल के मैचों की संख्या 60 से बढ़कर 74 हो गई है। इससे नीलामी में बोली की तगड़ी प्रतिस्पर्धा होने की संभावना है क्योंकि इस क्षेत्र में अब जी-सोनी और रिलायंस वायकाम 18 भी शामिल हैं।

बीसीसीआइ अमेजन प्राइम, मेटा और यूट्यूब से डिजिटल स्पेस के लिए आक्रामक बोली लगाने की उम्मीद कर रहा है। बीसीसीआइ ने एक बयान में कहा कि विस्तृत नियम और शर्तों का उल्लेख 'निविदा के लिए आमंत्रण (आइटीटी)' में किया गया है, जो जीएसटी को छोड़कर 25 लाख रुपये के गैर-वापसी योग्य शुल्क के भुगतान पर उपलब्ध कराया जाएगा। आइटीटी 10 मई तक खरीद के लिए उपलब्ध रहेगा। आपको बता दें कि आइपीएल के प्रसारण का  टीवी राइट्स फिलहाल स्टार स्पोर्ट्स के पास है। 

Edited By: Sanjay Savern