नई दिल्ली, पीटीआइ। यौन उत्पीड़न के आरोप झेल रहे बीसीसीआइ सीईओ राहुल जौहरी ने मंगलवार को तीन सदस्यीय जांच समिति के समक्ष अपने बयान दर्ज कराए। इस समिति की नियुक्ति प्रशासकों की समिति (सीओए) ने की है। यह भी पता चला है कि दो कथित पीड़ितों ने भी समिति के सामने गवाही दी। हालांकि, उनकी उपस्थिति की तारीखों की पुष्टि नहीं हो सकी।

बीसीसीआइ के एक सीनियर अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘राहुल खुद जांच समिति के समक्ष पेश हुए। दोनों कथित पीड़ित पहले ही गवाही दे चुकी थीं। इसके अलावा सीओए सदस्य और एक प्रमुख पदाधिकारी (कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी) ने भी अपना बयान दर्ज करा दिया और अब केवल सीईओ ही बाकी बचे थे।

एक कथित पीड़ित ने स्काइप के जरिए समिति के सामने अपनी बात रखी। अन्य नई शिकायतकर्ता हैं। हालांकि, यह पुष्टि नहीं हो पाई कि वह खुद समिति के सामने उपस्थित हुई थीं या उन्होंने विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए इसमें हिस्सा लिया था।’ यह पता नहीं चला है कि समिति और समय मांगेगी या नहीं।

इस समिति में इलाहाबाद हाई कोर्ट के सेवानिवृत न्यायाधीश राकेश शर्मा, दिल्ली महिला आयोग की पूर्व प्रमुख बरखा सिंह और वकील वीना गौड़ा शामिल हैं। समिति को 15 नवंबर को अपनी रिपोर्ट सीओए को सौंपनी है।

जौहरी के खिलाफ आरोप तब सामने आए जब लेखिका हरनिध कौर ने एक अज्ञात से जुड़ी घटना साझा की थी। अज्ञात ने दावा किया था कि जब जौहरी डिस्कवरी चैनल में थे, तब वह उनके साथ काम करती थीं। बीसीसीआइ सीईओ बनने से पहले जौहरी ने 2001 से 2016 के दौरान डिस्कवरी चैनल में विभिन्न पदों पर काम किया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप