नई दिल्ली, प्रेट्र। विदेश मंत्रालय(भारत सरकार) बीसीसीआइ के साथ मिलकर मालदीव के क्रिकेटरों को ट्रेनिंग देने की योजना पर काम कर रहा है। दरअसल, इस द्वीपीय देश के राष्ट्रपति इब्राहिम मुहम्मद सोलिह ने खेल के विकास के लिए भारत की सहायता मांगी है, जिसे बीसीसीआइ और मोदी सरकार ने मंजूर कर लिया है।

विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि भारत इस दक्षिण एशियाई देश में एक स्टेडियम के निर्माण की तैयारी भी कर रहा है जिसके लिए भी उन्होंने अनुरोध किया है। उन्होंने कहा, 'मालदीव के साथ हमारे संबंधों में ध्यान लोगों के बीच रिश्ते पर है और हम इसे मजबूत करने के तरीके देख रहे हैं।'

अप्रैल में मालदीव के राष्ट्रपति सोलिह बेंगलुरु में आइपीएल मैच भी देखने पहुंचे थे और फिर उन्होंने मालदीव में भी एक क्रिकेट टीम बनाने की इच्छा व्यक्त की थी तथा इसके लिए अपनी टीम की ट्रेनिंग के मद्देनजर भारत की सहायता की मांग की।

ये भी पढ़ें: नेपाल और अफगानिस्तान के बाद अब इस देश के क्रिकेटरों की मदद करेगी BCCI

गोखले ने कहा, 'उनके अनुरोध में मालदीव में एक क्रिकेट स्टेडियम बनाना भी है। हम इस पर विचार कर रहे हैं।' उन्होंने कहा कि मंत्रालय मालदीव के क्रिकेटरों को ट्रेनिंग देने के लिए बीसीसीआइ के साथ काम कर रहा है। उन्होंने कहा, 'मालदीव के क्रिेकेटरों को ट्रेनिंग देने के लिए, कोचिंग कार्यक्रम आयोजित करने के लिए और किट मुहैया कराने के लिए बीसीसीआइ के एक दल ने मई के शुरू में मालदीव का दौरा किया।'

सोलिह के बेंगलुरु दौरे पर उन्हें भारतीय कप्तान विराट कोहली, पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी और आइपीएल के मुख्य परिचालन अधिकारी हेमांग अमीन ने जर्सी भी भेंट की थी। इस मौके पर बीसीसीआइ के महाप्रबंधक सबा करीम सहित शीर्ष अधिकारियों ने मालदीव के पूरे दल को प्रस्तुतिकरण दिया था।

मालदीव क्रिकेट बोर्ड 1998 में एशियाई क्रिकेट परिषद का सदस्य बना और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद से मान्यता प्राप्त है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप