नई दिल्ली, अभिषेक त्रिपाठी। BCCI AGM: भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक सौरव गांगुली बुधवार को मुंबई में होने वाली सालाना आम बैठक (एजीएम) में बीसीसीआई के 39वें अध्यक्ष बनेंगे जिससे सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) का 33 महीने से चला आ रहा शासन खत्म हो जाएगा। बीसीसीआई अध्यक्ष पद के लिए गांगुली का नामांकन सर्वसम्मति से हुआ है जबकि जय शाह सचिव होंगे। उत्तराखंड के माहिम वर्मा नए उपाध्यक्ष होंगे।

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर के छोटे भाई अरण सिंह धूमल कोषाध्यक्ष होंगे जबकि केरल के जयेश जॉर्ज संयुक्त सचिव होंगे। गांगुली का कार्यकाल नौ महीने का ही होगा और सुप्रीम कोर्ट या सरकार के स्तर पर कुछ बड़ा नहीं होता है तो उन्हें जुलाई में पद छोड़ना होगा क्योंकि नए संविधान के प्रावधानों के तहत छह साल के कार्यकाल के बाद तीन साल का 'कूलिंग ऑफ' अनिवार्य है।

गांगुली ने कुछ लक्ष्य तय कर रखे हैं जिनमें प्रशासन को ढर्रे पर लाना और प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों के वेतन में बढ़ोतरी शामिल है। गांगुली ने पद संभालने के लिए वर्तमान तीनों पदाधिकारियों कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना, कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी और कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी को भी आमंत्रण दिया है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति ([सीओए)] ने इन तीनों को आमंत्रित नहीं किया था। मालूम हो कि अब इन तीनों पदाधिकारियों के जरिये ही गांगुली और उनकी टीम चार्ज लेगी। -

पूरी प्रक्रिया का पालन होगा : राय

सीओए के प्रमुख विनोद राय ने कहा, एजीएम के दौरान पूरी प्रक्रिया का पालन किया जाएगा। पहले पिछले तीन साल के खातों को मंजूरी दी जाएगी। उसके बाद निर्वाचन अधिकारी चुनाव के नतीजे का एलान करेंगे क्योंकि सभी निर्विरोध चुने गए हैं। हम सौरव से बात करके बुधवार का कार्यक्रम तय करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने जो कुछ ([आदेश)] भी किया है, मैं उससे खुश हूं। हमने निर्देश मांगे थे क्योंकि हम इस्तीफा नहीं दे सकते थे। सुप्रीम कोर्ट ने हमें नियुक्त किया था। हमें अपने कर्तव्यों से मुक्त होना प़़ड रहा है जो सुप्रीम कोर्ट का आदेश है। हर फैसले को कोर्ट ने अनिवार्य किया था। हमने संविधान नहीं बदला है। हमें जो भी दिया गया था, हमने उसमें ही काम किया है।

इडुल्जी ने कहा, कुछ भी व्यक्तिगत नहीं

सीओए सदस्य डायना इडुल्जी ने कहा कि विनोद राय की अगुआई वाले पैनल के भीतर गंभीर मतभेद थे जैसे कि एक लोकतांत्रिक संगठन में हो सकते हैं, लेकिन इनमें कुछ भी व्यक्तिगत नहीं था। भारतीय महिला टीम की पूर्व कप्तान इडुल्जी ने मुंबई में हुई सीओए की अंतिम बैठक के बाद कहा, यह अच्छा अनुभव था और लंबी यात्रा रही। मैंने नहीं सोचा था कि यह यात्रा इतनी लंबी होगी, लेकिन मैं चुनाव और पदाधिकारियों की वापसी से खुश हूं और अब वे बीसीसीआई का संचालन करेंगे। इडुल्जी और राय के बीच अक्सर कई मसलों पर मतभेद रहे। उन्होंने कहा, हमारे बीच मतभेद रहे और हमने इन्हें खुलकर जाहिर भी किया। किसी भी संगठन में ऐसा होता है। पिछले नौ महीने से सीओए का हिस्सा रहे लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत) रवि थोडगे ने कहा, क्रिकेट प्रशासन से जुड़ने से काफी कुछ सीखने को मिला।

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप