नई दिल्ली, पीटीआइ। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने रविवार को अपनी विशेष आम बैठक (एसजीएम) स्थगित कर दी, जिसमें पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने शिरकत की। इसको लेकर प्रशासकों की समिति (सीओए) ने कुछ मुद्दों पर सुप्रीम कोर्ट से निर्देश मांगे हैं।

बैठक को स्थगित करने का फैसला तब लिया गया जब पता चला कि सीओए ने सुप्रीम कोर्ट से यह जानने के लिए निर्देश मांगे कि आइसीसी की बैठकों में बीसीसीआइ का प्रतिनिधित्व करने के लिए कौन योग्य है। सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई सोमवार को होगी और बोर्ड ने बुधवार को फिर से बैठक बुलाई है। 

सौराष्ट्र क्रिकेट संघ के पूर्व प्रमुख निरंजन शाह ने पत्रकारों से कहा, 'बैठक स्थगित की गई क्योंकि सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर सोमवार को सुनवाई करेगा। क्योंकि इसमें कानूनी मुद्दे शामिल हैं। इसलिए संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी ने बैठक स्थगित करने की घोषणा की।' 

बैठक में ज्यादातर उन अनुभवी सदस्यों ने हिस्सा लिया जो लोढ़ा सिफारिशों पर आधारित सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार अयोग्य बताये गए हैं। श्रीनिवासन, निरंजन शाह, टीसी मैथ्यू, रंजीब बिस्वाल और जी गंगा राजू (सभी 70 साल की उम्र से अधिक हैं) जैसे अधिकारियों ने शिरकत की जो स्पष्ट रूप से आदेश का उल्लंघन है। लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू किए जाने के बाद रविवार को बीसीसीआइ की यह पहली एसजीएम थी।

आइपीएल की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस