नई दिल्ली, जेएनएन। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) जल्द ही आइसीसी के बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) आइसीसी की नीलामी प्रक्रिया में भाग लेने वाला है। बांग्लादेश चाहता है कि उसकी सरजमीं पर भी ग्लोबल क्रिकेट टूर्नामेंट आयोजित किए जाएं। आइसीसी भी 2024 से 2031 तक के फ्यूचर टूर प्रोग्राम में आने वाले आइसीसी इवेंट्स के लिए एक नीलामी प्रक्रिया रखने जा रही है।

यही कारण है कि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने आइसीसी के इवेंट्स को अपने यहां आयोजित कराने के लिए बोली लगाने में शामिल होने का फैसला किया है। बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी निजामुद्दीन चौधरी ने बताया है कि इससे उनके देश और क्रिकेट बोर्ड को काफी फायदा हो सकता है। इसके लिए वे देश की सरकार (गृह मंत्री और खेल मंत्री) से बात करेंगे। निजामुद्दीन चौधरी ने बताया है कि आइसीसी के अधिकारियों ने बीसीबी से इस बारे में बात की है।

ICC के अधिकारी कर रहे हैं दौरा

बीसीबी के सीईओ निजामुद्दीन चौधरी ने कहा है, "ये (ICC के अधिकारी) उन देशों में घूम रहे हैं जिन्होंने समय-समय पर आइसीसी इवेंट्स अपने यहां आयोजित कराए हैं। उन्होंने हमें बकाया है कि इन इवेंट्स को आयोजित कराने से उनको क्या फायदा होने वाला है। इन इवेंट्स की मेजबानी बिडिंग प्रोसेस यानी नीलामी प्रक्रिया के तहत मिलेगी। हम इसके फायदे के बारे में सोच रहे हैं।" साल 2016 से 2013 तक जितने भी बड़े आइसीसी टूर्नामेंट हुए हैं या होने हैं वे सिर्फ 3 देशों को मिले हैं, जिसमें भारत, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड का नाम है।

बांग्लादेश, वेस्टइंडीज, साउथ अफ्रीका, न्यूजीलैंड और श्रीलंका को इस कार्यकाल में एक भी बड़ा टूर्नामेंट अपने देश में आयोजित करने का मौका नहीं मिला है। ऐसे में बीसीबी के सीईओ को उम्मीद है कि वे भी अपने मैदानों पर आइसीसी इवेंट्स आयोजित कराने के लिए कदम उठाएंगे। बता दें कि बांग्लादेश ने साल 1998 में सबसे पहले मिनी वर्ल्ड कप आयोजित कराया था, जिसे बाद में आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का नाम मिला। वहीं, 2011 के वर्ल्ड कप के कुछ मैचों की मेजबानी भी बांग्लादेश ने की थी।

Edited By: Vikash Gaur