नई दिल्ली, जेएनएन। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम (Australia cricket team) के टेस्ट कप्तान टिम पेन (Tim Paine) ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 13 साल के सूखे को आखिरकार खत्म कर दिया। पेन के बल्ले से काफी लंबे समय के बाद शतक निकला। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ये उनका दूसरा ही शतक है, जो करीब 4738 दिन के बाद आया है। टिम पेट ने शेफील्ड शील्ड 2019 टूर्नामेंट में तस्मानिया की तरफ से खेलते हुए वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ये कमाल किया। इससे पहले टिम पेन ने पर्थ में साल 2006 में 21 वर्ष की उम्र में अपने फर्स्ट क्लास करियर का पहले शतक जड़ा था। 

एक बार फिर से पर्थ में ही 4,738 दिन के बाद टिम पेन ने नंबर सात पर बल्लेबाजी करते हुए ये कमाल किया। पेन ने 209 गेंदों का सामना करते हुए 121 रन की पारी खेली और उनकी इस पारी से तस्मानिया को अहम बढ़त मिली। पेन ने अपनी पारी में 13 चौके व एक छक्का लगाया। पेन के अलावा इस मैच में टीम के ओपनर जोर्डन सिल्क ने 44 रन, एलेक्स डूलन ने 23 रन की पारी खेलकर टीम को ठीकठाक शुरुआत दिलाई। इसके अलावा मैथ्यू वेड ने 40 और कालेब ज्वैल ने 52 रन की पारी खेलकर टीम के स्कोर को वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहली पारी में 337 रन तक पहुंचाने में बड़ी भूमिका निभाई। 

पेन को अपनी इस पारी के बाद जरूर राहत मिली होगी क्योंकि ऑस्ट्रेलिया टेस्ट टीम में एक प्लेयर के तौर पर उन पर सवाल खड़े होते रहे हैं। यही नहीं वो जरूर चाहेंगे कि उनका ये फॉर्म अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जारी रहे। पेन की कप्तानी में हाल ही में इंग्लैंड में खेले गए एशेज 2019 का नतीज 2-2 की बराबरी पर छूटा था। पांच मैचों की ये टेस्ट सीरीज बराबर रही थी जिसमें एक मैच ड्रॉ रहा था। ऑस्ट्रेलिया को अब आने वाले समय में पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ क्रिकेट सीरीज खेलनी है जिसमें पेन का अच्छे फॉर्म में रहना टीम के हित में होगा। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस