नई दिल्ली, जेएनएन। एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ जीत के बाद भारतीय टीम को एक नहीं बल्कि तीन झटके लगे। टीम में तीन खिलाड़ी हार्दिक पांड्या, शर्दुल ठाकुर और अक्षर पटेल चोटिल होकर बाहर हो गए हैं। इन तीनों की जगह दीपक चाहर, रवींद्र जडेजा, और कौल को मौका दिया गया है। दीपक और कौल तो इंग्लैंड के खिलाफ भी टीम का हिस्सा थे लेकिन जडेजा के लिए काफी अहम बात कि है उन्हें दोबारा वनडे टीम में जगह मिली है।

 कुछ समय पहले तक वनडे टीम में रवींद्र जडेजा की जगह पक्की मानी जाती थी और ऐसा हो भी क्यों ना जो खिलाड़ी बल्लेबाजी के साथ गेंदबाजी भी शानदार प्रदर्शन करे, उसे टीम से बाहर नहीं किया जा सकता और फिल्डिंग के मामले में तो वह शायद इस समय दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फील्डर है लेकिन इस खिलाड़ी का भी समय और किस्मत बदली।

टीम इंडिया ने उन्हें कई मौके दिए लेकिन ना तो वह बल्लेबाजी में कमाल कर पा रहे थे और ना ही गेंदबाजी में। चैंपियंय ट्रॉफी में तो इनका बहुत बुरा हाल था और इसके बाद तो उन्हें टीम से ही बाहर कर दिया गया। 

लेकिन अब समय ने एक बार फिर करवट ली। भले ही उन्हें चोटिल खिलाड़ियों की जगह मिली हो लेकिन अगर एक बार उन्हें प्लेइंग इलेवन में जगह मिल गई और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन कर दिया तो वह एक बार फिर टीम इंडिया के महत्वपूर्ण सदस्य बन सकते हैं। इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट में जब उन्हें मौका मिला तो उन्होंने गेंद और बल्ले दोनों से जबरदस्त प्रदर्शन किया। 

वैसे भी दुबई की पिच स्पिनर्स को मदद कर रही है तो जडेजा की लिए अच्छी खबर है। हालांकि जिस तरह कुलदीप और चहल गेंदबाजी कर रहे हैं उसे देखते हुए आसार कम ही लग रहे हैं कि उन्हें मौका मिले। अब केदार ने भी पाकिस्तान के खिलाफ अच्छी गेंदबाजी की, जो शायद इस खिलाड़ी के लिए फायदेमंद ना हो। डेजा ने भारत के लिए आखिरी बार जून 2017 में वनडे मुकाबला खेला था। उसके बाद से उनके वनडे टीम में जगह नहीं दी गई है। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस