नई दिल्ली, जेएनएन। बीसीसीआइ के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी 12 जून को बेंगलुरु में होने वाले एमएके पटौदी मेमोरियल लेक्चर को संबोधित करने के लिए इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज केविन पीटरसन का नाम चुने जाने पर भड़क गए हैं। इससे पहले चौधरी ने पैनल के सामने संबोधन करने के लिए अपने मजबूत दावेदारों के नाम सुझाए थे। पैनल ने कुमार संगकारा, नासिर हुसैन, सौरव गांगुली और केविन पीटरसन के नामों को शॉर्टलिस्ट किया था जिसमें से अब केपी का नाम फाइनल किया गया है।

चौधरी ने जनरल मैनेजर (क्रिकेट ऑपरेशन) सबा करीम द्वारा भारतीय क्रिकेट के दिग्गजों के नामों को नजरअंदाज करने पर अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने टाइगर पटौदी के साथ खेलने वाले इरापल्ली प्रसन्ना, अब्बास अली बेग और नारी कांट्रेक्टर के नाम सुझाए थे। झारखंड के पूर्व अधिकारी ने कहा है कि करीम ने उनके सुझावों पर ध्यान नहीं दिया और ना ही इस विषय पर उनसे कोई बातचीत की गई।

IPL की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

आइपीएल का पूरा शेड्यूल देखने के लिए यहां क्लिक करें

उस ईमेल के जवाब में चौधरी ने पूर्व भारतीय विकेटकीपर करीम पर व्यंग्यात्मक प्रहार किया है जिसमें पीटरसन के नाम की घोषणा की गई थी। ईमेल में कार्यवाहक सचिव ने करीम से पांच सवाल किए हैं। इसमें चार नामों की सूची में 75 फीसद विदेशी नामों के शामिल किए जाने, पीटरसन के चयन के औचित्य और संगकारा की अनुपलब्धता को नजरअंदाज किए जाने पर सवाल खड़े किए हैं। साथ ही चौधरी ने करीम पर सीओए के सुझावों को बिना बताए एकतरफा तरीके से लागू करने का आरोप लगाया है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें  

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप