मुंबई। भारत के पूर्व तेज गेंदबाज करसन घावरी का मानना है कि न्यूजीलैंड दौरे पर भारतीय टीम प्रबंधन को लेग स्पिनर अमित मिश्रा को एक मौका देना चाहिए था। दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड दौरे पर टीम में शामिल मिश्रा को एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला।

तेज गेंदबाजों में भारत के लिए सबसे पहले 100 विकेट लेने वाले घावरी ने कहा, 'मुझे लगता है कि अमित को मौका देना चाहिए था। दुर्भाग्य से तेज विकेटों (जैसी न्यूजीलैंड में) पर स्पिनरों को प्रतिभा दिखाने का मौका नहीं दिया जाता। निजी तौर पर मेरा मानना है कि अमित को मौका मिलना चाहिए था क्योंकि अश्विन ने वनडे में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था। मुझे लगता है कि भारत की रणनीति कहीं न कहीं गलत रही।' दूसरे टेस्ट में न्यूजीलैंड की दूसरी पारी में भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन पर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें शॉर्ट गेंद करने की बजाय आगे गेंद करनी चाहिए थी जैसा कि न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने किया।

पढ़ें : कोहली ने जड़ा शतक, न्यूजीलैंड ने सीरीज पर किया कब्जा

विदेश में लगातार चौथी सीरीज में हार के बारे में घावरी ने कहा कि अगर अंडर-16, 19 और रणजी स्तर पर तेज पिचें तैयार नहीं की जाएंगी, तब तक ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तेज पिचों पर इसी तरह बल्लेबाजी की कलई खुलती रहेगी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप