मोहाली। भारतीय क्रिकेट टीम के स्पिनर अमित मिश्रा ने अब तक वनडे टीम में न्यूजीलैंड के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया है और आर. अश्विन की गैरमौजूदगी में उन्होंने अपनी जिम्मेदारी खूब निभाई है। टीम के युवा स्पिनर अक्षर पटेल और जयंत यादव उनके अनुभव का खूब फायदा उठा रहे हैं।

अमित से सबसे अहम बात ये बताई की किस तरह से टीम के कोच अनिल कुंबले खिलाड़ियों की मदद करते हैं।अमित के मुताबिक कुंबले तकनीक के मामले में ज्यादा बातें नहीं करते हैं, बल्कि मानसिक तौर पर मदद करते हैं। जब मैं टेस्ट सीरीज के दौरान प्लेइंग इलेवन में नहीं था, तब भी वे मेरा मनोबल बढ़ाते थे। हम यह बात करते थे कि किस तरह की फील्डिंग के साथ कैसी गेंदबाजी करनी चाहिए और गेंद का टप्पा कहां होना चाहिए। अनिल भाई भले ही गेंदबाज थे, लेकिन वे बल्लेबाजों की भी बहुत मदद करते हैं। वे पुछल्ले बल्लेबाजों को किस तरह बल्लेबाजी करनी चाहिए इसके बारे में समझाते हैं।

मिश्रा ने कहा, मुझे युवा स्पिनरों को मदद कर अच्छा लगता है। मैं नेट्स पर तथा मैच के दौरान भी उन्हें समझाता रहता हूं। मैं टिप्स देने को तैयार रहता हूं। उन्होंने कहा कि दिल्ली मैच में हार के बावजूद टीम का मनोबल काफी ऊंचा है। परिस्थिति कैसी भी हो, अनिल भाई पॉजीटिव रहते हैं। टीम में हर मैच जीतने की क्षमता है। हम दूसरा वनडे मैच भी जीत सकते थे, हम उन गलतियों को नहीं दोहराएंगे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप