नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मेंटल कंडीशनिंगकोच पैडी अप्टन ने अपनी आत्मकथा में साल 2013 में राजस्थान रॉयल्स की ड्रेसिंग रूम में हुई कुछ घटनाओँ का भी जिक्र किया। साल 2013 में वो इस टीम के हेड कोट बनाए गए थे। उन्होंने घटना का जिक्र करते हुए लिखा था कि जब सीएसके के खिलाफ श्रीसंत को प्लेइंग इलेवन में नहीं शामिल किया गया तो काफी गुस्से में आ गए थे। 

पैडी ने लिखा कि श्रीसंत ने उन्हें गाली दी थी और फिर राहुल द्रविड़ ने उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया था। इसके अलावा उन्हें घर जाने के लिए भी कहा गया था, इत्तेफाक से ये सारी घटनाएं श्रीसंक के गिरफ्तार होने से सिर्फ 24 घंटे पहले हुई थी। श्रीसंत की गिरफ्तारी 16 मई 2013 को हुई थी। 

अब श्रीसंत ने इन सारी घटनाओं पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए हेलो लाइव पर कहा कि वो पैडी अप्टन के इस आरोपों को खारिज करते हैं और साफ तौर पर कहते हैं कि उनका राहुल द्रविड़ के साथ किसी भी तरह की कोई बहस नहीं हुई थी। मैं द्रविड़ जैसे महान खिलाड़ी का असम्मान कभी नहीं कर सकता। वो बेहतरीन कप्तान थे और मैं सिर्फ इसलिए गुस्सा था क्योंकि मुझे सीएसके के खिलाफ खेलने का कोई भी मौका नहीं मिला। मैंने सिर्फ इसका कारण पूछा था। 

इसके बाद श्रीसंत ने पैडी अप्टन की लिखी बातों पर अपना असहमति जताई और कहा कि मैं सीएसके के खिलाफ खेलना चाहता था और उस टीम के खिलाफ जीत दर्ज करना चाहता था। हालांकि मुझे इसका सही कारण नहीं पता चल पाया कि मुझे उस मैच से दूर क्यों रखा गया। डरबन में हुए मुकाबले में मैंने एमएस धौनी को गेंदबाजी की और उनका विकेट भी लिया, लेकिन इस मैच में बाद मुझे सीएसके के खिलाफ कोई मैच खेलने का मौका नहीं मिला। टीम मैनेजमेंट ने भी मुझे इसका सही कारण नहीं बताया। मैं धौनी और सीएसके से घृणा नहीं करता, बस उस टीम की जर्सी मुझे ऑस्ट्रेलियन टीम की याद दिलाती है। 

श्रीसंत ने पैडी अप्टन के बारे में कहा कि उन्हें टीम के ज्यादातर खिलाड़ी सम्मान नहीं देते थे। यही नहीं इंटनेशनल क्रिकेट में उनके आंकड़े भी अच्छे नहीं हैं और मैं उनसे ये पछना चाहूंगा कि उन्होंने अपनी किताब में ये बातें क्यों लिखी हैं और इसका कारण बताएं। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस