नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला आयोजित होनी है। दो देशों के बीच होने वाली इस वनडे सीरीज का आयोजन संयुक्त अरब अमीरात यानी यूएई में कराने का प्रयोजन था, लेकिन अब ये सीरीज श्रीलंका के हंबनटोटा के महिंदा राजपक्षे स्टेडियम में खेली जाएगी। इस बात की पुष्टि शनिवार 24 जुलाई को अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड यानी एसीबी ने कर दी है।

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि पहली बार इन दो एशियाई देशों के बीच द्विपक्षीय सीरीज का आयोजन होने जा रहा है, जिसमें अफगानिस्तान और पाकिस्तान की टीम आमने-सामने होंगी। दोनों देशों के बीच सीरीज कराने का अनुमान उस समय लगाया गया था जब अफगानिस्तान के स्टार ऑलराउंडर मोहम्मद नबी ने पाकिस्तान के मौजूदा प्रधान मंत्री और पूर्व कप्तान इमरान खान से मुलाकात की थी।

पीएम इमरान के साथ हुई बैठक में मोहम्मद नबी ने उनसे दोनों देशों के बीच एक द्विपक्षीय सीरीज की व्यवस्था करने का अनुरोध किया था। पहले की रिपोर्टों में यह भी सुझाव दिया गया था कि इमरान खान ने अपने पड़ोसी देश को शामिल करते हुए एक द्विपक्षीय सीरीज आयोजित करने के लिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से संपर्क किया है। बाद में पुष्टि हुई कि यूएई इसकी मेजबानी करेगा, लेकिन कुछ घटनाक्रम ऐसे हुए हैं, जिसकी वजह से यूएई में ये सीरीज नहीं खेली जाएगी।

दरअसल, इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल के 14वें संस्करण के बाकी बचे मैचों का आयोजन यूएई में होना है, जबकि इसके बाद आइसीसी टी20 विश्व कप 2021 का भी आयोजन यूएई और ओमान में होना है। ऐसे में अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच होने वाली द्विपक्षीय वनडे सीरीज के लिए इस वेन्यू का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। हालांकि, अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड यानी पीसीबी के साथ मिलकर नया रास्ता बना लिया है।

क्रिकबज की रिपोर्ट के मुताबिक, एक अधिकारी ने कहा है, "एसीबी ने पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज की मेजबानी के लिए यूएई और ओमान से संपर्क किया था, लेकिन दोनों देश आगामी असाइनमेंट के कारण उन्हें समायोजित करने में विफल रहे। आइपीएल 2021 के बाकी बचे मैच सितंबर में यूएई में खेले जाएंगे और भारत की प्रमुख टी20 प्रतियोगिता के पूरा होने के बाद देश ओमान के साथ टी20 विश्व कप की भी मेजबानी करेगा।"

Edited By: Vikash Gaur