नई दिल्ली, जेएनएन। भारत में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन किया हुआ है, जिसका आज यानी 27 मार्च को तीसरा दिन है। इस दिन हम आपको क्रिकेट से जुड़ा एक ऐसा तथ्य बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में शायद बहुत कम लोग जानते होंगे। ये तथ्य भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और बेस्ट फिनिशर महेंद्र सिंह धौनी से जुड़ा है। क्या आप जानते हैं कि एमएस धौनी ने भारतीय टीम के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में पारी की भी शुरुआत की है। अगर नहीं जानते तो आज जान जाएंगे।

दाएं हाथ के दिग्गज बल्लेबाज एमएस धौनी ने अपने करियर की शुरुआत में दो बार भारत के लिए वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में ओपनिंग की है। हैरान करने वाली बात ये है कि इन दो मैचों में उनके कप्तान अलग-अलग थे, लेकिन बतौर कप्तान खुद कभी भी एमएस धौनी भारत के लिए ओपनिंग करने नहीं उतरे। कभी-कभार वे नंबर 3 पर तो अपनी कप्तानी में आए हैं, लेकिन नंबर एक या दो पर एमएस धौनी ने अपनी कप्तानी में कभी भी बल्लेबाजी नहीं की है।

2005 और 2006 में की धौनी ने ओपनिंग

भारतीय टीम के लिए 350 वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने वाले एमएस धौनी ने देश के लिए नंबर 2 से नंबर 8 तक बल्लेबाजी की है। एमएस धौनी ने सिर्फ 2 बार भारत के लिए वनडे क्रिकेट में ओपनिंग की है, जिसमें एक बार साल 2005 में और दूसरी पार साल 2006 में वे पारी की शुरुआत करने उतरे थे। साल 2005 में वीरेंद्र सहवाग के साथ राहुल द्रविड़ की कप्तानी में वे ओपनर के तौर पर उतरे थे। इस मैच में सुरेश रैना ने भारत के लिए डेब्यू किया था।

30 जुलाई 2005 को एमएस धौनी ने पहली बार ओपनिंग की, लेकिन श्रीलंका के खिलाफ वे 7 गेंदों में में 2 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद साल 2006 में सहवाग की कप्तानी में उनको फिर से ओपनिंग करने का मौका मिला। इस बार इंग्लैंड के सामने उन्होंने ओपनिंग की और 106 गेंदों में 10 चौके और 3 छक्कों की मदद से 96 रन की पारी खेली, लेकिन वे अपने पहले शतक से चूक गए।

रोहित शर्मा और विराट कोहली ने प्लेयर ऑफ द मैच के मामले में रचा इतिहास, बना है विश्व रिकॉर्ड

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस