नई दिल्ली, जेएनएन। India vs Bangladesh: बांग्लादेश के खिलाफ दोहरा शतक जड़ते ही मयंक अग्रवाल ने कमाल कर दिखाया। इस दोहरे शतक से भारतीय टीम ने भी टेस्ट क्रिकेट में एक नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया है। चार लगातार टेस्ट मैचों भारतीय बल्लेबाजों ने दोहरा शतक जड़ा है। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार है जब लगातार चार टेस्ट मैचों में 4 दोहरे शतक एक ही टीम की ओर से लगे हैं।

दरअसल, भारतीय टीम की ओर से टेस्ट मैचों में दोहरे शतक लगाने का सिलसिला मयंक अग्रवाल ने विशाखापत्तनम से शुरू किया था। मयंक अग्रवाल ने वाइजैग में 215 रन की पारी खेली थी। इसके बाद कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 254 रन की पारी साउथ अफ्रीका के खिलाफ पुणे में खेली। वहीं, इस सीरीज के आखिरी मैच में रोहित शर्मा ने रांची में दोहरा शतक जड़ा था, जो टेस्ट में उनका पहला दोहरा शतक था।

दोहरे शतक के सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए मयंक अग्रवाल ने ही इसे चार पर पहुंचाया दिया। इंदौर टेस्ट मैच में मयंक अग्रवाल 243 रन बनाकर आउट हुए। हालांकि, इससे पहले भारतीय टीम की ओर से एक विश्व रिकॉर्ड बन चुका था। टेस्ट क्रिकेट के 100 साल से भी ज्यादा के इतिहास में भारतीय टीम ने वो कर दिखाया है जो अभी तक कोई भी टीम नहीं कर पाई थी। ऐसा पहली बार है जब लगातार चार टेस्ट मैचों में चार दोहरे शतक लगे हैं।

लगातार चार टेस्ट मैचों में चार दोहरे शतक

मयंक अग्रवाल- 215 रन, विशाखापत्तनम

विराट कोहली - 254 रन, पुणे

रोहित शर्मा - 212 रन, रांची

मयंक अग्रवाल - 243 रन, इंदौर

भारतीय टेस्ट टीम के ओपनिंग बैट्समैन मयंक अग्रवाल ने इस मुकाबले में कुल 330 गेंदों का सामना किया, जिसमें उन्होंने 28 चौके और 8 छक्कों की मदद से 243 रन बनाए। इस दौरान मयंक का स्ट्राइकरेट 73.64 का रहा। भारत की ओर से एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के लगाने के मामले में मयंक अग्रवाल ने नवजोत सिंह सिद्धू की बराबरी कर ली है, जिन्होंने एक टेस्ट पारी में 8 छक्के लगाए थे। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप