(हर्षा भोगले का कॉलम) 

मुझे लगता है कि हम पिच के बारे में जरूरत से ज्यादा सोच रहे हैं और इस प्रक्रिया में अपने खेल को भूलते जा रहे हैं। बेशक, पिच क्रिकेट का अहम हिस्सा होती है, लेकिन सब कुछ नहीं। यह दोनों टीमों के लिए एक जैसी होती है। यह ऐसा ही है जैसे किसी ताश के खेल में एक व्यक्ति अपने हाथों से सभी प्रतिभागियों को कार्ड बांटता है। बेशक उस व्यक्ति का हाथ अहम होता है, लेकिन खिलाड़ी की योग्यता और कौशल ही उसे विजेता बनाती है।
उम्मीद है कि बेंगलुरु में हमें एक बेहतरीन सतह देखने को मिलेगी, क्योंकि अब यह एक जिम्मेदारी भी है। और इस खेल की पुरानी कहावतों में कहा भी जाता है कि अच्छी पिचों पर अच्छा क्रिकेट खेला जाता है। लेकिन अगर यह खिलाडिय़ों को चुनौती देती है तो फिर हमें देखना होगा कि क्या हम अपार कौशल और संकल्प से इसका सामना करते हैं, जैसा कि स्टीव स्मिथ ने किया। या जैसा कि लोकेश राहुल करते हुए दिखाई दे रहे थे। 
 टीम इंडिया को अगर सीरीज में वापसी करनी है तो शीर्ष खिलाडिय़ों को राह दिखानी होगी। जब आप पुणे की तरह कोई मुकाबला हारते हैं तो इससे आपके आत्मविश्वास को गहरी चोट लगती है। ऐसे में कोहली या अश्विन जैसे खिलाडिय़ों से आगे की राह दिखाने की उम्मीद की जाती है और उन्हें ऐसा करना ही होगा। ये ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें बाकी टीम को बताना चाहिए कि देखो, हम अब भी सीरीज जीत सकते हैं और हम आपको रास्ता दिखाएंगे।  
 इसके अलावा भारतीय टीम को ओपनिंग जोड़ी से भी अधिक योगदान की जरूरत होगी। बिना किसी नुकसान के 75 रन का स्कोर किसी भी टीम के लिए सुकून भरी बात होती है। इसकी तुलना किसी अन्य बात से नहीं की जा सकती। ओपनर का काम भी यही होता है कि वो ऐसी बुनियाद रखे जिस पर बुलंद इमारत खड़ी की जा सके। भारत इस विभाग में अब भी संतुलन की तलाश में हैं। वास्तव में ओपनिंग पूरी पारी की दिशा तय करने का काम करती है। 
 मैं आगामी मुकाबलों में कुछ कड़ा क्रिकेट देखने की उम्मीद कर रहा हूं। मैं ये देखने के लिए भी उत्साहित हूं कि सीरीज में अप्रत्याशित बढ़त मिलने पर कोई टीम अगले मुकाबले में कैसी प्रतिक्रिया देती है। वहीं, उम्मीदों के विपरीत लय से भटकी किसी टीम का रवैया कैसा रहता है। मैं ये भी उम्मीद कर रहा हूं कि मैच शुरू होने से पहले ही पिच को मुख्य अभिनेता के तौर पर पेश नहीं किया जाएगा। 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Savern