वीवीएस लक्ष्मण का कॉलम:::

आखिरकार सबसे तीव्रता और उत्सुकता के साथ खेली जाने वाली प्रतियोगिता आइपीएल के अब प्लेऑफ के दावेदार तय हो चुके हैं। लीग चरण की समाप्ति के एक दिन पहले तक प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने वाली तीसरी टीम तय नहीं थी। 56 मैचों के बाद ही अंक तालिका को औपचारिक रूप दिया जा सका, जो क्रिकेट की गुणवत्ता का गवाह है। इससे आठों टीमों की प्रतिभा भी पता चलती है। 

हालांकि इस सत्र में 200 से ज्यादा के कुछ स्कोर बने, लेकिन ज्यादातर मैचों में बल्ले और गेंद के साथ समान प्रतिस्पर्धा देखी गई। गेंदबाजों को पिचों से कुछ मदद मिली। खासकर कलाई के स्पिनरों के लिए शानदार मौका था, लेकिन विविधता से भरे और चालाक गेंदबाजों को इसका फायदा मिला। युवा भारतीय प्रतिभाओं को सामने लाने के लिए यह बहुत उत्साहजनक है, क्योंकि आखिरकार यह आइपीएल के उद्देश्यों में से एक है। साथ ही केन विलियमसन और एमएस धौनी जैसे खिलाडिय़ों ने अनुभव और धैर्य के अपने गुणों को एक बार फिर दोहराया और इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि क्वालीफिकेशन की दौड़ में शीर्ष दो टीमें इन दोनों दिग्गज खिलाडिय़ों की कप्तानी वाली हैं।

अब तक जो भी हुआ है, प्रतियोगिता के अंतिम सप्ताह में उसके बहुत ज्यादा मायने नहीं होंगे। अब यह आपकी भूख और इच्छा पर निर्भर है, लेकिन दबाव के समय आक्रामक मानसिकता के साथ शांति भी मिलती है। नॉकआउट की स्थिति में यह सिर्फ आपके कौशल पर निर्भर नहीं करता है, बल्कि इस पर भी निर्भर करता है कि आप दबाव में कैसे प्रतिक्रिया देते हैं। 

मंगलवार से शुरू होने वाले नॉकआउट के लिए जब हम क्वालीफायर-एक में चेन्नई सुपर किंग्स से भिड़ेंगे तो अचानक इसका महत्व बढ़ जाएगा। आदर्श रूप में, सनराइजर्स हैदराबाद अच्छी लय के साथ प्लेऑफ में जाना पसंद करता। हालांकि लगातार तीन हार के बाद हम अनावश्यक रूप से परेशान नहीं होंगे। हम उन क्षेत्रों के बारे में जानते हैं जहां हमें सुधार करने की जरूरत है, लेकिन हमने पूरे सत्र में इस बात पर जोर दिया है कि हमारा ध्यान परिणाम से ज्यादा प्रक्रियाओं पर रहा है। हम अपने अभियान को सकारात्मक तरीके से लेंगे, जिसमें हमने नौ जीत के साथ तालिका में शीर्ष स्थान हासिल किया।

यह अच्छा है कि हमें अपनी स्थिरता के इनाम के रूप में फाइनल में जगह बनाने के लिए दो मौके मिलेंगे, लेकिन हम इस पर बहुत ज्यादा ध्यान नहीं देंगे। जब हम नौ मैच जीत चुके हैं तो हम उन पर ध्यान देंगे कि हमने क्या किया है और चेन्नई जैसी मजबूत टीम के खिलाफ उसे दोहराने की कोशिश करेंगे, जो अजेय टीम नहीं है। निजी तौर पर अगले सप्ताह के बाद जो होगा उसे लेकर मैं बेहद उत्साहित हूं।

आइपीएल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern