सौरव गांगुली का कॉलम

भारत को इंग्लैंड दौरे में जैसी शुरुआत चाहिए थी, वैसी ही मिल गई है। भारत तीन टी-20 मैचों की सीरीज 2-1 से जीत चुका है और अब उसे तीन वनडे की सीरीज खेलनी है। भारत के लिए पूरी ताकत के साथ टी-20 सीरीज जीतना अहम है। निश्चित तौर पर यह आत्मविश्वास और लय वनडे सीरीज में भी कायम रहेगी। जिस तरह से सीमित ओवरों में भारत की क्रिकेट टीम बन रही है उससे इंग्लैंड जैसी टीम को भी विराट एंड कंपनी को रोकने के लिए अतिरिक्त मेहनत करने की जरूरत पड़ रही है। यह ऐसी टीम है जो किसी भी परिस्थितियों में सीमित ओवरों के मैचों को जीतने का माद्दा रखती है।

मैं पिछले 20-22 साल से हर वर्ष इंग्लैंड जाता हूं और मैंने इस तरह की गर्मी पहले कभी नहीं देखी है। यहां बहुत-बहुत गर्मी है और इंग्लैंड में जिस तरह की परिस्थितियां देखने को मिलती हैं उससे स्थितियां काफी भिन्न नजर आ रही हैं। यहां ऐसा लग रहा है कि आप भारत में खेल रहे हो। विकेट सख्त और बल्लेबाजों के मुफीद हैं। स्पिनरों को यहां निश्चित तौर पर मजा आएगा। इंग्लैंड के लिए चुनौती होगी कि वे आगे कैसे भारतीय स्पिनरों को खेलते हैं और यह अगली सीरीज का निर्णायक फैक्टर भी होगा। इंग्लैंड अपने घर में हमेशा से मजबूत रहा है लेकिन ये भारतीय टीम उसको परेशान करने का माद्दा रखती है।

दोनों टीमों का बल्लेबाजी क्रम बेहद मजबूत है लेकिन विराट और अन्य आक्रामक खिलाडि़यों को देखकर मुझे टीम इंडिया कुछ ज्यादा बेहतर लगती है। भारतीय गेंदबाजी भी विपक्षी टीम से ज्यादा अच्छी है। उमेश को लगातार मैच मिलना उनके आत्मविश्वास को बढ़ाएगा। उनकी गति का कोई मुकाबला नहीं है। कुलदीप और युजवेंद्रा सिंह चहल की स्पिन इंग्लिश मध्यक्रम को परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। हालांकि तीसरे टी-20 में कुलदीप को न खिलाना मुझे आश्चर्यचकित कर गया।

लोकेश राहुल, हार्दिक पांड्या और रोहित शर्मा की बात जरूर करनी चाहिए। जिस दिन रोहित रन बनाते हैं उस दिन बाकी सब उन्हें देखते ही रहते हैं। उनके शॉट्स की रेंज गजब है और टी-20 में वह विराट कोहली के साथ भारत के सबसे बड़े मैच विजेता खिलाडि़यों में शामिल हैं। विराट का राहुल के प्रति विश्वास जताना बढि़या दिखाई देता है। वह भविष्य का खिलाड़ी है और उस पर इसी तरह विश्वास रखा गया तो वह एक दिग्गज के रूप में सामने आ सकता है। हार्दिक के बारे में विशेष रूप से बात करने की जरूरत है। उन्होंने अपने आपको बेहतर किया है।

वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी से पूरी टीम के संयोजन को ही बदलकर रख दिया है। वह निडर क्रिकेटर हैं। हम एक बड़े दौरे की शुरुआत में ही हैं और अगर इंग्लैंड टीम अपनी गेंदबाजी में सुधार नहीं करती है तो जिस तरह भारतीय टीम ने शुरुआत की है उससे इंग्लिश समर शानदार इंडियन समर के रूप में तब्दील हो सकती है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें
अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By Ravindra Pratap Sing