कराची। पूर्व पाकिस्तानी कप्तान वसीम अकरम का मानना है कि आइपीएल में पाकिस्तानी क्रिकेटरों की वापसी का यह सही समय है, क्योंकि इससे दुनिया भर में दोनों टीमों के प्रशंसकों को जुड़ने का मौका मिलेगा।

पाकिस्तानी खिलाड़ी 2008 में हुए मुंबई आतंकी हमले के बाद से आइपीएल में नहीं खेल सके हैं। अकरम ने कहा कि भारत-पाकिस्तान मैचों में हमेशा काफी भीड़ उमड़ती है और दोनों टीमों की काफी हौसलाअफजाई करते हैं। मुझे उम्मीद है कि भविष्य में पाकिस्तानी खिलाड़ी आइपीएल खेल सकेंगे। पाकिस्तानी खिलाड़ियों के खेलने से आइपीएल की चमक बढे़गी। कोलकाता नाइट राइडर्स के गेंदबाजी कोच अकरम ने कहा सईद अजमल, उमर अकमल, उमर गुल, शाहिद आफरीदी के खेलने से टूर्नामेंट की चमक बढे़गी। यूएई उनका घरेलू मैदान रहा है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस