सौरव गांगुली

सीरीज में 0-1 से पिछड़ रही भारतीय टीम अब दूसरा वनडे मैच खेलने जा रही है और उनके पास इसे 2-1 करने का मौका है। ऐसे हालात भारतीय टीम के सामने कई बार आए हैं और उन्होंने पिछड़ने के बाद वापसी भी की है। पहले वनडे में शुरुआती तीन विकेट चार रन पर गंवाने के बाद स्कोर 250 के पार ले जाना अच्छा है।

रोहित शर्मा की पारी के बारे में बात करनी होगी। वह विशेष रूप से खेल के छोटे प्रारूप में पिछले तीन वर्षो में एक अभूतपूर्व खिलाड़ी बन गए हैं। उनकी पारी में यह खास रहा कि दूसरे छोर से विकेट गिरते रहे, लेकिन उनके स्ट्राइक रेट में कोई कमी नहीं आई। रोहित शर्मा, विराट कोहली और शिखर धवन के अलावा कई भारतीय बल्लेबाज बिना किसी वार्मअप मैचों के वनडे सीरीज में उतरे इसलिए यह समझ में आता कि उन्हें अपनी लय में आने में थोड़ा समय लगेगा। मुझे यकीन है कि हम एडिलेड में भारत के प्रदर्शन में सुधार देखेंगे।

ऑस्ट्रेलिया के लिए टॉस जीतना अच्छा था। जब विकेट हाथ में हो तो 300 के करीब स्कोर तक पहुंचा जा सकता है। वे इस प्रारूप में अच्छी टीम दिखाई दे रही है। यह ऑस्ट्रेलियाई टीम टेस्ट की तुलना में बहुत बेहतर है। एक बार डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ टीम में वापस आ गए तो यह और भी मजबूत हो जाएगी। ऑस्ट्रेलियाई टीम का पिछले मैच में संतुलन अच्छा नजर आया, लेकिन उनकी एक ही परेशानी आरोन फिंच और उस्मान ख्वाजा के स्ट्राइक रेट को लेकर थी। जसप्रीत बुमराह के बिना भारतीय गेंदबाजी आक्रमण थोड़ा अलग था। मुहम्मद शमी ने सिडनी में अच्छी गेंदबाजी की और जल्दी विकेट निकाले के लिए भुवनेश्वर कुमार के साथ उन्हें नई गेंद दी जा सकती है।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप