नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। हरारे स्पोर्ट्स क्लब के मैदान पर पहले वनडे मैच में भारतीय गेंदबाजों का जलवा देखने को मिला। भारत के कप्तान केएल राहुल ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और गेंदबाजों ने उनके फैसले को बिल्कुल सही साबित करते हुए जिम्बाब्वे को 200 रनों के भीतर रोक दिया। हालांकि यह स्कोर और भी कम हो सकता था लेकिन जिम्बाब्वे ने 9वें विकेट के लिए रिकॉर्ड तोड़ साझेदारी करते हुए स्कोर को 189 तक पहुंचा दिया।

एक समय जिम्बाब्वे ने अपने 8 विकेट 110 रन के स्कोर पर गंवा दिए थे लेकिन 9वें विकेट के लिए ब्रैड इवांस और नगारावा ने 70 रनों की साझेदारी की और टीम के स्कोर को 200 के करीब पहुंचा दिया। यह वनडे क्रिकेट में जिम्बाब्वे का 9वें विकेट के लिए सर्वाधिक रनों की साझेदारी है। 

जिम्बाब्वे की बल्लेबाजी की बात करें तो टीम के कप्तान रेजिस चकाबा ने सर्वाधिक 35 रन बनाए। इसके अलावा ब्रैड इवांस ने 33 और नगारावा ने 34 रनों की उपयोगी पारी खेली। जिम्बाब्वे की टीम को सबसे ज्यादा उम्मीद जिस बल्लेबाज से थी उसने टीम को निराश किया। शानदार फॉर्म में चल रहे सिंकदर रजा ने 17 गेंदों पर 12 रन बनाए। उन्हें प्रसिद्ध कृष्णा ने धवन के हाथों कैच कराया।

भारतीय गेंदबाजों का दिखा दम

6 महीने बाद वापसी कर रहे दीपक चाहर ने टीम को पहली सफलता दिलाई। नई गेंद से हमेशा टीम को सफलता दिलाने वाले चाहर ने यहां भी भारत को पहली सफलता दिलाई। चाहर ने 7 ओवर की गेंदबाजी में 27 रन देकर 3 विकेट हासिल किए। चाहर के अलावा प्रसिद्ध कृष्णा और अक्षर पटेल ने 3-3 विकेट लिए जबकि मोहम्मद सिराज को 1 विकेट मिला।

Edited By: Sameer Thakur