नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। Year Ender 2021: भारतीय टीम ने साल 2021 में ज्यादा इंटरनेशनल क्रिकेट नहीं खेली। हालांकि, भारत ने जितनी भी द्विपक्षीय सीरीज खेलीं, उनमें अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन टीम आइसीसी इवेंट में एक बार फिर से फेल हो गई। यहां हम भारत की इंग्लैंड में खेली गई टेस्ट सीरीज की बात करें, जिसमें भारत ने सीरीज को लगभग अपने नाम कर लिया है। हालांकि, सीरीज का एक मुकाबला अगले साल खेला जाएगा।

दरअसल, भारत ने इंग्लैंड की सरजमीं पर इस साल अगस्त-सितंबर में पांच मैचों की सीरीज खेली, जिसमें से आखिरी मैच कोरोना के कारण स्थगित करना पड़ा। हालांकि, इस मुकाबले के लिए इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ से वाकओवर मांगा था, लेकिन बीसीसीआइ ने आखिरी मैच अगले साल खेलने की इच्छा जाहिर की थी, जिसे बाद में इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड यानी ईसीबी ने स्वीकार कर लिया था।

अब बात करते हैं कि इस सीरीज का नतीजा क्या रहा और भारत ने कैसे इतिहास रचा। दरअसल, अब तक इस सीरीज के चार मुकाबले खेले जा चुके हैं और भारत ने पहला मैच ड्रा कराने में सफलता हासिल की थी और दूसरा मैच 151 रन से जीता था, लेकिन तीसरे मैच में टीम इंडिया को पारी और 76 रन से करारी हार झेलनी पड़ी थी। वहीं, सीरीज का चौथा मैच भारत ने 157 रन के अंतर से जीता था।

भारतीय टीम ने साल 2021 से पहले सिर्फ दो बार टेस्ट सीरीज इंग्लैंड में जीती है और एक बार दो टेस्ट मैच जीते हैं और ये दूसरी बार है, जब टीम इंडिया ने ऐसा किया है। पटौदी ट्राफी में भारत 2-1 से बढ़त बनाए हुए हैं। माना जाए तो ये एक तरह से जीत ही है, क्योंकि एक मुकाबला सीरीज का बाकी है और अगर उस मुकाबले में जीत मिल जाती है तो टीम 3-1 से सीरीज जीत जाएगी, जबकि मुकाबला ड्रा होने पर टीम इंडिया 2-1 से सीरीज जीतेगी। वहीं, अगर मुकाबला हारती है तो सीरीज 2-2 से बराबर होगी।

भारतीय टीम ने इंग्लैंड में सीरीज बराबर कराई हुई है, लेकिन उसमें भी भारतीय टीम एक ही मैच जीत पाई थी। वहीं, इस साल विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने दो मैच जीते हैं। ये अपने आप में इतिहास है। हालांकि, इंग्लैंड की टीम ने भारत में कई बार दो मैच जीते हैं और सीरीज भी जीती है, लेकिन भारतीय टीम कभी भी इंग्लैंड की सरजमीं पर टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाई है।

Edited By: Vikash Gaur