नई दिल्ली, जेएनएन। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल से पहले कई तरह की चर्चा हो रही है जिसमें ये भी कहा जा रहा है कि, टीम इंडिया अगर न्यूजीलैंड के खिलाफ चार तेज गेंदबाजों के खिलाफ मैदान पर उतरती है तो उन्हें बतौर स्पिन ऑलराउंडर टीम में आर अश्विन को शामिल करना चाहिए। वहीं चार तेज गेंदबाजों के टीम में होने की सूरत में रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा जा सकता है। कई पूर्व भारतीय क्रिकेटर इस बात की वकालत कर रहे हैं। कीवी टीम के खिलाफ आर अश्विन इतने अहम क्यों हैं ये इस टीम के खिलाफ उनके द्वारा किया गया प्रदर्शन खुद बयां कर रहा है। 

कीवी टीम के खिलाफ टेस्ट में आर अश्विन का दमदार प्रदर्शन

आर अश्विन ने अपने टेस्ट करियर में न्यूजीलैंड के खिलाफ अब तक कुल 6 मैच खेले हैं। इन मैचों में इनका प्रदर्शन काफी प्रभावशाली रहा है। छह टेस्ट मैचों की 11 पारियों में उन्होंने इस टीम के खिलाफ अब तक कुल 48 विकेट हासिल किए हैं। कीवी टीम के खिलाफ एक पारी में उनका बेस्ट प्रदर्शन 59 रन देकर 7 विकेट रहा है जबकि एक मैच में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 140 रन देकर 10 विकेट रहा है। इस टीम के खिलाफ उन्होंने 6 बार 5 विकेट लेने का कमाल किया है तो वहीं तीन बार 10 विकेट लेने का कमाल किया है। इन मैचों में उनका औसत 16.97 रहा है जबकि इकानॉमी रेट 3.07 का रहा है। 

रवींद्र जडेजा की बात करें तो उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ अब तक 6 टेस्ट खेले हैं और इसकी 12 पारियों में 19 विकेट लिए हैं। भारत की तरफ से इस टीम के खिलाफ टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में पहले नंबर पर बिशन सिंह बेदी हैं जिन्होंने 12 टेस्ट मैचों में 57 विकेट लिए थे तो वहीं दूसरे नंबर पर ई प्रसन्ना हैं जिन्होंने 10 मैचों में 55 विकेट लिए थे। वहीं तीसरे नंबर पर अनिल कुंबले हैं जिन्होंने 11 मैचों में 50 विकेट लिए थे तो वहीं अश्विन फिलहाल चौथे नंबर पर हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप