नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय टीम को न्यूजीलैंड की टीम के खिलाफ आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में करारी हार मिली। बल्लेबाजों के फ्लॉप होने की वजह से भारत इस मैच में बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहा और हार झेलना पड़ा। 139 रन का पीछा करते हुए 45.5 ओवर में न्यूजीलैंड ने महज 2 विकेट गंवाकर जीत का लक्ष्य हासिल किया। भारत को मिली इस शर्मनाक हार में कप्तान विराट कोहली के साथ तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह विलेन बनकर सामने आए।

विराट कोहली

इस मैच में भारतीय कप्तान से एक बेहतर पारी की उम्मीद की जा रही थी लेकिन वह ऐसा करने में नाकाम रहे। पहली पारी में भारतीय टीम 217 रन ही बना पाई जिसमें कोहली के बल्ले से 44 रन निकले थे। दूसरी पारी में जब टीम को एक बड़ा स्कोर बनाने की जरूरत थी कि वह महज 13 रन बनाकर आउट हो गए। दूसरी पारी में भारत की पूरी टीम महज 170 रन पर ही ढेर हो गई। कोहली एक तरफ जहां दोनों पारी में कुल मिलाकर 57 रन ही बना पाए वहीं दूसरी तरफ न्यूजीलैंड के कप्तान ने पहली पारी में 49 रन बनाए तो दूसरी पारी में नाबाद 53 रन बनाकर टीम को जीत दिलाकर वापस लौटे।

चेतेश्वर पुजारा

इस मैच में भारत के मिडिल आर्डर बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा से भी काफी उम्मीद की जा रही थी लेकिन उन्होंने हद से ज्यादा निराश किया। भारत के लिए अक्सर मुश्किल वक्त में मैदान पर टिकने वाले पुजारा इस मैच में दोनों पारी में नाकाम रहे। पहली पारी में इस बल्लेबाज ने 8 रन बनाए तो दूसरी पारी में 15 रन ही बना पाए।

जसप्रीत बुमराह

इस मैच में भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण में एक खिलाड़ी पर सबकी नजर थी। पूर्व दिग्गजों ने जिस जसप्रीत बुमराह को सबसे अहम कड़ी बताया था वह एक भी विकेट नहीं हासिल कर पाए। पहली पारी में इस गेंदबाज ने 26 ओवर में 57 रन दिए लेकिन विकेट नहीं ले पाए। दूसरी पारी में 10.4 ओवर गेंदबाजी के बाद 35 रन देकर भी उनके विकेट का खाना खाली ही रहा।

 

Edited By: Viplove Kumar