नई दिल्ली, जेएनएन। वर्ल्ड कप 2019 के लिए इंग्लैंड की उड़ान भरने के लिए टीम इंडिया के पास अब एक सप्ताह से भी कम समय बचा है। 30 मई से इंग्लैंड और वेल्स में शुरू हो रहे वर्ल्ड कप 2019 के लिए भारतीय टीम 22 मई को उड़ान भरेगी। क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट के 12वें संस्करण के लिए टीम इंडिया को खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। लेकिन, टीम इंडिया क्या इस सपने को साकार कर पाएगी ये टीम के तीन बड़े खिलाड़ियों पर निर्भर करेगा, जो टीम को मैच ही नहीं बल्कि वर्ल्ड कप की चमचमाती ट्रॉफी दिलाएंगे।

भारतीय टीम और टीम के करोड़ों फैंस को जिन तीन खिलाड़ियों पर भरोसा है उनमें सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा, कप्तान विराट कोहली और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह का नाम शामिल है। अगर इन तीनों में से दो खिलाड़ी फेल होते हैं, तो फिर टीम इंडिया मुश्किल में आ सकती है। यही वजह है कि इन तीन खिलाड़ियों में से हर मैच में किसी ना किसी दो खिलाड़ियों को दमदार परफॉर्मेंस दिखानी होगी। इन तीनों ही खिलाड़ियों ने आइपीएल में अच्छा प्रदर्शन कर ये साबित भी कर दिया है वो इंग्लैंड में शांत नहीं बैठने वाले।

 

हिटमैन रोहित शर्मा

वनडे क्रिकेट में अगर इस समय किसी सलामी बल्लेबाज का खौफ है तो वो हैं रोहित शर्मा। हिटमैन रोहित शर्मा का बल्ला जब भी चलता है तो फिर आग उगलता है। वनडे क्रिकेट में तीन दोहरे शतक लगाने वाले दुनिया के इकलौते बल्लेबाज रोहित शर्मा को अगर एक बार स्टार्ट मिल जाता है तो फिर कोई गेंदबाज उनके सामने आने से कतराता है।

रोहित शर्मा ने भारत के लिए 206 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें 47.4 के शानदार औसत से उन्होंने 8010 रन बनाए हैं। रोहित शर्मा के नाम इस फॉर्मेट में 3 दोहरे शतकों के साथ 22 शतक और 41 अर्धशतक शामिल हैं। वनडे क्रिकेट का सबसे बड़ा निजी स्कोर 26 रन भी रोहित शर्मा के ही नाम है। ऐसे में एक बार फिर सभी की निगाहें हिटमैन के बल्ले से लंबी-लंबी पारियां निकलने पर होंगी।

रन मशीन विराट कोहली

टीम इंडिया के कप्तान और रन मशीन विराट कोहली का ये बतौर कप्तान पहला वर्ल्ड कप है। साल 2011 और 2015 में एमएस धौनी की कप्तानी में दो वर्ल्ड कप खेल चुके विराट कोहली इस समय वनडे रैंकिंग में पहले स्थान पर हैं। लगभग 60 औसत रखने वाले विराट कोहली इस फॉर्मेट में सबसे तेज 10 हजार रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज हैं।

कंसिस्टेंट कोहली ने टीम इंडिया के लिए 227 वनडे मैच खेले हैं, जिनमें 59.58 की औसत से उन्होंने 10843 रन बनाए हैं। इसमें 41 शतक और 49 अर्धशतक शामिल हैं। विराट कोहली शतकों के मामले में सचिन तेंदुलकर(49) के बाद दूसरे नंबर पर हैं। इन आंकड़ों को देखकर कोहली को लेकर फैंस का भरोसा उन पर दोगुना हो जाता है। ऐसे में किंग कोहली से उम्मीद होगी कि वो अच्छे स्टार्ट को बड़ा करें और खराब शुरुआत मिलने पर टीम को संभालें और एक अच्छे स्कोर तक ले जाएं।

बूम-बूम बुमराह

बल्लेबाजों में जैसे विराट और रोहित का नाम है। गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह का नाम है। डेथ ओवर्स स्पेशलिस्ट और एकमात्र भरोसेमंद गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के लिए ये पहला वर्ल्ड कप है। पहले वर्ल्ड को यादगार बनाने के लिए जसप्रीत बुमराह को बहुत मेहनत करनी होगी। साल 2016 में डेब्यू करने वाले 25 वर्षीय जसप्रीत बुमराह दुनिया के किसी भी बल्लेबाज को मुसीबत में डाल सकते हैं। जसप्रीत बुमराह के पास डेथ ओवर्स में गेंदबाजी करने की वो ताकत है जो किसी के पास नहीं है।

जसप्रीत बुमराह ने अभी सिर्फ 49 वनडे मैच ही खेले हैं। लेकिन, इन मैचों में कभी भी उन्होंने अपने कप्तान को निराश नहीं किया है। जसप्रीत बुमराह ने अपने वनडे करियर में 85 विकेट चटकाए हैं। ऐसे में जसप्रीत बुमराह के पास अपने विकेटों की संख्या 100 के पार ले जाने के साथ-साथ टीम को लो स्कोरिंग और हाइ प्रैशर वाले मुकाबले जिताने की जिम्मेदारी उठानी होगी। अगर जसप्रीत बुमराह कहीं फेल होते हैं तो फिर टीम इंडिया को संकट से कोई गेंदबाज नहीं निकाल सकता।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur