मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली जेएनएन। सुप्रीम कोर्ट ने क्रिकेटर एस. श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध को हटा दिया है। इसके बाद से उनकी वापसी को लेकर सवाल खड़े होने शुरू हो गए। खुद श्रीसंत ने भी इस बात को बोला कि वह मैदान में वापस आने को तैयार हैं। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि सिलेक्शन चयनकर्ताओं पर निर्भर है। अगर लिएंडर पेस 42 साल की उम्र में ग्रैंडस्लैम जीत सकते हैं तो वह कम से कम 36 वर्ष में कुछ क्रिकेट खेल सकते हैं। श्रीसंत वापसी की बात तो कर रहे हैं, लेकिन यह इतना आसान नहीं होगा। आइये जानते हैं 4 ऐसे कारण जो उनकी वापसी में रोड़ा अटका सकते हैं।

अंगूठे में है इंजरी
श्रीसंत के पैर के अंगूठे में पुरानी इंजरी है। 2012 में इसको लेकर 14 महीनें उन्होंने मैदान से बाहर रहना पड़ा था। श्रीसंत के अंगूठे में प्लैटिनम के दो नाखून हैं। इसके चलते उन्हें अपना रनअप भी कम करना पड़ा था, जिसके चलते उनकी गति पर भी प्रभाव पड़ा। बिग बॉस के इस सीजन में श्रीसंत ने इस बात का जिक्र किया। वह ट्रेडमील पर दौड़ नहीं पा रहे थे, इसके लिए उन्होंने इसी चोट का हवाला दिया था। अब सवाल यह है कि क्या वह इस चोट से उभर पाएंगे और क्या उनकी गति पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा ? 

छह साल से नहीं खेला है क्रिकेट
श्रीसंत ने पिछले छह साल से मैदान से बाहर हैं। वह 2013 स्पॉट फिक्सिंग के मामले में प्रतिबंध झेल रहे थे। इससे कुछ ही दिन पहले वह अंगूठे के इंजरी से उभरे थे। श्रीसंत ने आशीष नेहरा और लिएंडर पेश को उदाहरण तो दिया है पर उन दोनों ने अपना खेल इतने समय के लिए कभी नहीं छोड़ा। प्रवीण ताबें ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने ने अपना खेल उम्र के इस पड़ाव पर शुरू किया , लेकिन वह स्पिनर हैं। श्रीसंत का बतौर तेज गेंदबाज वापसी करना इतना आसान नहीं होगा। 

खिलाड़ियों से नहीं रहे हैं अच्छे संबंध
श्रीसंत अपने खेल के अलावा और बहुत सारे कामों के लिए सुर्खिंया बटरोते रहे हैं। वह जब क्रिकेट के मैदान में थे तब कई दिग्गज खिलाड़ियों से पंगा लिया। उनमें से कुछ दिग्गज अब भी भारतीय टीम का हिस्सा हैं। उनके खराब संबंध भी उनकी वापसी के बीच दीवार बनकर खड़ी हो सकती है। 

भारतीय टीम में नहीं है जगह  
जसप्रीत बुमराह इस वक्त दुनिया के नंबर-1 वनडे गेंदबाज हैं। भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी भी लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। इसके अलावा भारतीय टीम की बैंच स्ट्रैंथ भी काफी मजबूत है। जहां सिद्धार्थ कौल और खलील अहमद को लगातार मौका दिया जा रहा है, वहीं शिवम मावी, कमलेश नागरकोटी और बासिल थम्पी भी लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। इन सबको देखते हुए श्रीसंत के लिए जगह बनती नहीं दिख रही है। 

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप