नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के तूफानी ओपनरों में गिने जाने वाले पूर्व बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कई आतिशी पारियां खेली है। आज के दिन भी सहवाग के बल्ले से एक ऐसी ही तूफानी पारी देखने को मिली थी जिसने वनडे क्रिकेट में ऐसा इतिहास रचा जो किसी कप्तान के लिए दोहराना मुमकिन नहीं हुआ। यहां तक की भारतीय टीम के धुरंधर कप्तान विराट कोहली भी आज तक उस रिकॉर्ड को नहीं छू पाए।

8 दिसंबर 2011 का दिन भारतीय क्रिकेट इतिहास ही नहीं विश्व क्रिकेट के इतिहास में सबसे बड़ा दिन था। इस दिन सहवाग ने वेस्टइंडीज के खिलाफ आतिशी बल्लेबाजी करते हुए वनडे में दोहरा शतक बनाया था। सहवाग दुनिया के महज दूसरे बल्लेबाज बने थे जिन्होंने वनडे में दोहरा शतक बनाने का कमाल कर दिखाया था। वनडे इंटरनेशनल में पहला दोहरा शतक भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर ने लगाया था।

सहवाग ने खेली 219 रन की आतिशी पारी

वनडे क्रिकेट में सहवाग ने आज के ही दिन 2011 में दोहरा शतक बनाया था। वेस्टइंडीज के खिलाफ इंदौर के होल्कर स्टेडियम पर सहवाग की यह आतिशी पारी देखने को मिली थी। महज 149 गेंद पर इस पूर्व भारतीय ओपनर ने वनडे मे 25 चौके और 7 छक्के लगाते हुए दोहरा शतक बनाने का कमाल कर दिखाया था।

सहवाग दोहरा शतक बनाने वाले अकेले कप्तान

सहवाग एक मात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने बतौर कप्तान वनडे में दोहरा शतक बनाया है। वेस्टइंडीज को खिलाफ कप्तानी करने उतरे सहवाग ने 219 रन की पारी खेलकर सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ा था। आज तक इंटरनेशनल क्रिकेट में कोई भी कप्तान वनडे में दोहरा शतक नहीं बना पाया है। भारतीय कप्तान विराट कोहली का वनडे में सर्वाधिक स्कोर 183 रन है।

वनडे में 6 पुरुष बल्लेबाजों के नाम दोहरे शतक

आज तक वनडे क्रिकेट में महज 6 बल्लेबाजों ने दोहरा शतक बनाने का कमाल किया है। इसमें भारत के रोहित शर्मा के नाम तीन बार वनडे में दोहरा शतक बनाने का रिकॉर्ड है। वहीं उनके अलावा सचिन तेंदुलकर (भारत), वीरेंद्र सहवाग (भारत), क्रिस गेल (वेस्टइंडीज), मार्टिन गुप्टिल (न्यूजीलैंड) और फखर जमां (पाकिस्तान) ने एक -एक बार ऐसा किया है।  

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस