नई दिल्ली, जागरण स्पेशल। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट को आए अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है। महज 12-13 साल पुराने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के लिए अब तक 6 खिलाड़ी कप्तानी कर चुके हैं। इन 6 कप्तानों में सिर्फ पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी, मौजूदा कप्तान विराट कोहली और विराट की अनुपस्थिति में कप्तानी वाले रोहित शर्मा का नाम सभी के जहन में आता है, लेकिन 3 खिलाड़ी ऐसे भी हैं जो कप्तानी कर चुके हैं, लेकिन गुमनाम जैसे हैं।

100 से ज्यादा इंटरनेशनल टी20 मैच खेलने वाली भारतीय टीम की सबसे ज्यादा कप्तानी महेंद्र सिंह धौनी ने की है। धौनी टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले भारत के ही नहीं, बल्कि दुनिया के इकलौते खिलाड़ी हैं। धौनी ने बतौर कप्तान 72 टी20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले हैं। वहीं, बतौर खिलाड़ी उन्होंने कुल 98 मुकाबले खेले हैं। ऐसे में सह सकते हैं कि तीन चौथाई के करीब मुकाबले धौनी ने कप्तान रहते खेले हैं।

ये हैं तीन खिलाड़ी, जिन्होंने की कप्तानी 

धौनी के बाद नियमित रूप से कप्तानी संभालने वाले विराट कोहली अब तक 27 मुकाबले बतौर कप्तान खेल चुके हैं। वहीं, उनकी अनुपस्थिति में सबसे सफल टी20 कप्तान रोहित शर्मा 18 मुकाबले भारतीय टीम की कमान संभालते हुए खेले हैं। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि सबसे पहले भारतीय टीम की कप्तानी टी20 फॉर्मेट में वीरेंद्र सहवाग ने की थी, जब पहली बार भारतीय टीम ने अपना टी20 इंटरनेशनल मैच साल 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला था।

सहवाग हैं भारत के सबसे पहले T20I कप्तान

दरअसल, जब टी20 फॉर्मेट की शुरुआत हुई थी और भारत को अपना उद्घाटन मैच खेलना था तो चयनकर्ताओं के पास ऐसा कोई खिलाड़ी नहीं था, जिसे टीम की कमान सौंपी जाए। ऐसे में विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को एकमात्र टी20 इंटरनेशनल मैच के लिए पहली बार टीम का कप्तान चुना गया, जिस टीम में सचिन तेंदुलकर जैसे महान खिलाड़ी थे। इस मैच में भारत ने साउथ अफ्रीका को उसी के घर में करारी मात दी थी। हालांकि, इसके बाद सहवाग को कभी कप्तानी नहीं मिली।

जब रैना बने भारतीय टीम के कप्तान

टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के लिए सुरेश रैना ने भी कप्तानी की है। सुरेश रैना ने साल 2010 में जिम्बाब्वे के खिलाफ भारतीय टीम की कमान संभाली थी। रैना की कप्तानी में भारतीय टीम ने T20I सीरीज में जिम्बाब्वे को 2-0 से मात दी थी। इसके बाद रैना ने वेस्टइंडीज के खिलाफ एक टी20 इंटरनेशनल मैच में कप्तानी की थी, जब नियमित कप्तान धौनी को आराम दिया गया था। वहीं, वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर चोट के कारण टीम से बाहर थे। इस मैच में भी उनको जीत मिली थी। इस तरह सहवाग की तरह रैना का कप्तानी का जीत का रिकॉर्ड सौ फीसदी है।

रहाणे भी बने भारत के कप्तान

दाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे 2011 से 2015 तक भारतीय टी20 टीम का हिस्सा थे। इसी दौरान 2015 में अजिंक्य रहाणे ने टीम इंडिया की कप्तानी की। सिर्फ दो मैचों में जिम्बाब्वे के खिलाफ टी20 सीरीज में उन्होंने कप्तानी की, जिसमें एक मैच जीता तो वहीं दूसरे मैच में टीम को हार मिली। इसके बाद से अजिंक्य रहाणे को कभी भी कप्तानी करने का मौका नहीं मिला। कुछ समय के बाद उन्होंने टीम से अपनी जगह भी गंवा दी।

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021